सीहोर पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी द्वारा थाना कोतवाली के लसूडिया परिहार के पास रेलवे ट्रैक पर हुई हत्या का किया खुलासा

DG NEWS SEHORE

आरोपियो ने धोखाधडी का बदला लेने के लिये ठग को अधमरा कर रेल्वे ट्रेक पर फेंक कर रचा था पुलिस को गुमराह करने का प्रपंच।

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट 8871288482

सीहोर । दिनांक 15 फरवरी 2022 को लसुड़िया परिहार के पास रेल्वे ट्रेक पर मिले अज्ञात शव की शिनाख्त कोतवाली सीहोर व्दारा इरफान खान पिता हबीब खान निवासी ईटखेड़ा थाना बिलकिसगंज सीहोर के रूप में हुई थी। पुलिस जाँच में सामने आया कि इरफान खान केमिकल के प्रयोग से नोट बनाने का दावा कर व्यक्तियो को उनके रूपये पाँच गुना करने का लालच देकर धोखाधड़ी किया करता था जिसका शिकार पिन्टू उर्फ पिंकेश पिता कालूराम जाटव उम्र 22 साल निवासी सिकंदराबाद थाना रातीबड़ भोपाल भी हुआ था जिसे उसके दोस्त वीर सिंह पिता नर्बदा सिंह जांगड़ा उम्र 45 साल निवासी बरखेड़ी खुर्द थाना रातीबड़ भोपाल ने पिंकेश से मिलाया था और इरफान व्दारा पाँच गुनी रकम करने की बात बतायी थी। लालच में आकर पिंकेश ने अपनी कार गिरवी रखकर एक लाख रूपये का इंतजाम कर इरफान को इसके पाँच गुने करने के लिये करीब एक माह पहले दिये थे। इरफान ने पिंकेश को वीर सिंह के सामने अपने घर पर हाथ की सफाई से किसी केमिकल और एक काँच की शीट का इस्तेमाल कर कुछ रुपये बनाकर देने का स्वांग भी किया था और इसी दौरान काँच टूट जाने का बहाना कर और रूपये न बन पाने की बात कही थी साथ ही उसे बताया कि ये काँच बहुत मँहगा आता है जिसे बाहर से बुलाना पड़ता है । जब तक दूसरा काँच नहीं आ जाता तब तक और रूपये नहीं बन सकते जिसके लिये पचास हजार रूपये का और इंतजाम करना पड़ेगा। पिंकेश ने कई बार इरफान से गुहार की कि या तो वह उसके एक लाख रुपये के पाँच गुना करके उसे दे दे या तो उसकी मूल रकम उसे वापस कर दे पर इरफान लगातार टालमटोल करता रहा। इन बातो से परेशान पिंकेश ने वीर सिंह के साथ मिलकर इरफान को सबक सिखाने की योजना बनायी।

इरफान का भाई भोपाल की एक अस्पताल में दुर्घटना में घायल होकर ईलाजरत था जिसे 14 फरवरी को अस्पताल से डिस्चार्ज होना था जिसे डिस्चार्ज कराने इरफान 14 तारीख को भोपाल गया था और यही दिन पिंकेश और वीर सिंह ने चुनकर इरफान को बिलकिसगंज बुलाया जहाँ तीनो ने शराब पी और पिंकेश ने इरफान को राजी किया कि वह उसके पैसे वापस करने का एक लिखित में इकरारनामा करे जिसके लिये पिंकेश उसे वीर सिंह के साथ अपनी कार में लेकर अपने पिता के ग्राम पड़ली व बिजलौन के बीच स्थित खेत मे बनी एक झोपड़ी में ले गया और वहीं से फोन करके अपने भाई राहुल और ग्राम छोटी झागरिया थाना रातीबड़ भोपाल निवासी अपने दोस्तो राहुल सूर्यवंशी पिता नारायण और अर्जुन सूर्यवंशी पिता रामलाल को भी वही बुला लिया जहाँ सभी ने फिर से शराब पी और पिंकेश और वीर सिंह ने मिलकर लाठियो से इरफान को बेतहाशा मारा जिससे उसे सिर पर आयी चोटो के कारण वह बेहोश हो गया उसके बाद सबूत मिटाने की नीयत से पाँचो ने उसे पिंकेश की आई 20 कार MP 04 CQ 4288 की डिक्की में ड़ाला और जमनी पड़ली के रास्ते होकर उसे लसुड़िया परिहार जोड़ के पास, महाकाल ढाबा के पीछे स्थित सुनसान रेल्वे ट्रेक पर डाल दिया और इरफान की मोटरसायकल भी रेल्वे ट्रेक के किनारे फेंक दी जिससे किसी को उनपर शक न हो और घटना आत्महत्या प्रतीत हो। इरफान को रेल्वे ट्रेक पर डालने के बाद पाँचो आरोपी कार से आँवली घाट पहुँचे जहाँ रास्ते में उन्होने मृतक के खून आलूदा कपड़े और कार की मेट जिस पर खून लगा था भाऊखेड़ी जोड़ के पास फेंक दी तथा मृतक का मोबाईल फोन आँवली घाट पहुँचकर नर्मदा नदी में फेंक दिया।

जिस समय आरोपियो ने इरफान को रेल्वे ट्रेक पर डाला उस समय वह बेहोशी की हालत में था और जब सुबह लगभग 05.30 बजे राजकोट एक्सप्रेस उस ट्रेक से गुजरी तो उसकी चपेट में आने से इरफान की ट्रेन से कटने से मृत्यु हो गई।

घटना शुरूआत में ही संदिग्ध प्रतीत होने पर पुलिस अधीक्षक सीहोर मयंक अवस्थी व्दारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीहोर समीर यादव और नगर पुलिस अधीक्षक सीहोर अर्चना अहीर के मार्गदर्शन में कोतवाली टी आई नलिन बुधौलिया के नेतृत्व में एक जाँच दल का गठन किया गया जिसने घटना की सूक्ष्मता से जाँच कर घटना की वास्तविकता पता कर घटना के आरोपियो को गिरफ्तार किया।

आरोपियों से जब्त मशरूका :-


घटना में प्रयुक्त आई 20 कार MP 04 CQ 4288, लकड़ी के डण्डे तथा मृतक के खूनआलूदा कपड़े तथा कार की खून से सनी मेट जप्त कर ली है।

आरोपियों के नाम :-


01.विरसिह उर्फ विरू पिता नरबद उम्र 46 साल निवासी नईबस्ती बरखेडी खुर्द थाना रातीबड भोपाल
02 पिन्केश उर्फ पिन्टु पिता कालुराम जाटव उम्र 27 साल निवासी ऩईबस्ती सिकन्दराबाद थाना रातिबड
03 राहुल पिता कालुराम जाटव उम्र 31 साल निवासी ऩईबस्ती सिकन्दराबाद थाना रातिबड

04 राहुल सुर्यवशी पिता नारायणसिह सुर्यवंशी निवासी छोटा झागरिया रातिबड भोपाल
05 अर्जुन सुर्यवशी पिता रामलाल सुर्यवशी निवासी छोटा झागरिया रातिबड भोपाल

उपरोक्त कार्यवाही में सराहनीय भूमिका:-

कोतवाली नगर निरीक्षक नलिन बुधौलिया, सहायक उप निरीक्षक एस.एन वर्मा , सहायक उप निरीक्षक राजेश यादव , आरक्षक विक्रम रघुवंशी, आरक्षक महेन्द्र मेवाडा आरक्षक नेपाल, आरक्षक विष्णु भगवान। पुलिस अधीक्षक सीहोर व्दारा जाँच दल को पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है।

About सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS

View all posts by सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS →

Leave a Reply