Shahdol:- यहां बनेंगे गांधी स्तंभ, चारों ओर आंदोलनों का किया जाएगा उल्लेख

Sulekha kushwaha shahdol,

एकरूपता बनाने सभी जगह एक समान कराया जाएगा निर्माण

शहडोल. जिले के ऐसे शासकीय व अशासकीय महाविद्यालय जिनकी स्वयं की भूमि है व वहां भवना बना हुआ है वहां गांधी स्तंभ का निर्माण कराया जाएगा। जिसके लिए मुख्यमंत्री द्वारा गांधी जयंती के अवसर पर घोषणा की गई थी। गांधी स्तंभ निर्माण कार्य को 26 जनवरी तक कराया जाना होगा। जिसे लेकर उच्च शिक्षा विभाग द्वारा सभी महाविद्यालयों को आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं। सभी महाविद्यालयों में एकरूपता बनाए रखने के लिए एक समान गांधी स्तंभ बनाए जाने के निर्देश हैं। गांधी स्तम्भ निर्माण के लिए आवश्यक स्थल का चयन अध्यक्ष जनभागीदारी समिति की सहमति से किया जाएगा। यह निर्माण शासकीय महाविद्यालयों में जनभागीदारी मद से अध्यक्ष जनभागीदारी समिति की सहमति एवं अशासकीय महाविद्यालयों में स्वयं की निधि से किया जाना है।
गांधी पीठ की स्थापना
पंडित एसएनएस विवि में गांधी पीठ की स्थापना की गई है। पं. एस एन शुक्ल विवि में गांधी पीठ की स्थापना की है। चेयरमैन कुलपति प्रो. मुकेश कुमार तिवारी, सचिव राजनीति शास्त्र विभाग अध्यक्ष चेतना सिंह है। इस पीठ में 3 सदस्य को शामिल किया गया हैं। जिसमें गीता सराफ, स्वालकिंन खान एवं अरुणेंद्र पांडे है। पीठ का पहला आयोजन विश्वविद्यालय के सभागार में होगा।
पुण्यतिथि पर होगा लोकार्पण
महाविद्यालयों में गांधी स्तम्भ का निर्माण 26 जनवरी तक कराए जाने के आदेश जारी किए गए हैं। जिनका महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर सामूहिक रूप से लोकार्पण किया जाएगा। इस अवसर पर जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष, नगर के गांधीवादी विचारक व महाविद्यालय स्टाफ के साथ छात्र-छात्रा मौजूद रहेंगे।
कुछ ऐसा होगा गांधी स्तंभ
1.स्तम्भ का आकार चौकोर होगा, चबूतरे के चारो तरफ पुष्पों की क्यारी सजाई जाएगी।
2. लम्बाई व चौड़ाई 2.5 फिट, ऊंचाई 4 फिट होगी।
3. स्तम्भ के ऊपर गांधी जी की प्रतिमा होगी।
4. सामने भाग में गांधी स्तम्भ का संकल्प अंकित किया जाएगा।
5. पीछे वाले भाग में मप्र में महात्मा गांधी अंकित किया जाएगा।
6. बाएं व दाएं भाग में महात्मा गांधी के प्रमुख आंदोलन अंकित किए जाएंगे।

About सुलेखा कुशवाहा शहडोल

View all posts by सुलेखा कुशवाहा शहडोल →

Leave a Reply