लोकल सामग्री क्रय कर हुनरमंदों के त्यौहार भी करें रोशन : मुख्यमंत्री श्री चौहान
प्रधानमंत्री के “वोकल फॉर लोकल” के सकंल्प को पूरा करने में म.प्र की सतत भागीदारी


प्रधानमंत्री की मन की बात पर मुख्यमंत्री ने किए ट्वीट

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि देश एवं प्रदेश के विकास और आर्थिक सुदृढ़ीकरण के लिए लोकल उत्पादों को बढ़ावा देना अत्यधिक महत्पूर्ण है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के “वोकल फॉर लोकल” के संकल्प को पूरा करने में मध्यप्रदेश अपनी भागीदारी सतत रूप से सुनिश्चित कर रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों से आव्हान किया है कि त्यौहारों के अवसर पर जरूरी सामान खरीदने के लिए अपने स्थानीय दुकानदार और स्थानीय स्तर पर बने उत्पादों को प्राथमिकता दें। इससे न केवल आपका देश-प्रदेश के विकास में योगदान रहेगा बल्कि स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता लोकल सामग्री की होना चाहिए। लोकल खरीदेंगे तो हमारे गरीब कारीगर, बुनकर और अन्य स्थानीय सामग्री बनाने वाले भाई-बहनों के त्यौहार भी रोशन होंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की मन की बात को सुन कर उक्त आशय के ट्वीट कर प्रदेशवासियों को “वोकल फॉर लोकल” को बढ़ावा देने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के रोडमेप में स्थानीय स्तर पर निर्मित होने वाली सामग्रियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी क्रम में “एक जिला-एक उत्पाद” योजना भी शुरू की जा चुकी है। प्रदेश के सभी जिलों की विशेषताओं और वहाँ की सामग्रियों को जिले की पहचान बनाने एवं उनकी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग भी की जा रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमने प्रदेश में उन हुनरमंद महिलाओं को चिन्हित कर स्व-सहायता समूहों का गठन भी किया है, जो अनेक प्रकार की उपयोगी सामग्री स्थानीय स्तर पर ही तैयार करती हैं। ऐसी सभी महिलाओं को बैंकों के माध्यम से आर्थिक मदद उपलब्ध करवा कर उन्हें प्रोत्साहित भी किया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं द्वारा निर्मित सामग्री की ब्रांडिंग और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए हाल ही में महिला स्व-सहायता समूहों का राज्य स्तरीय सम्मेलन भी आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में महिलाओं ने अपने हुनर के साथ स्व-रोजगार की पहल को प्रभावी रूप से प्रस्तुत किया।

Leave a Reply