मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आचार्य विनोबा भावे की जयंती पर किया नमन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विनोबा भावे जी की जयंती पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निवास स्थित सभागार में उनके चित्र पर माल्यार्पण किया।

आचार्य विनोबा भावे का जन्म 11 सितंबर 1895 को हुआ। वे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्हें भारत का राष्ट्रीय आध्यापक माना जाता है। उन्होंने अपने जीवन के आखिरी वर्ष पवनार, महाराष्ट्र के आश्रम में गुजारे। उन्होंने भूदान आन्दोलन चलाया। नागपुर झंडा सत्याग्रह में वे बंदी बनाये गये। विनोबा भावे अत्यंत विद्वान एवं विचारशील व्यक्ती थे। अर्थशास्त्र, राजनीति और दर्शन के आधुनिक सिद्धांतों का भी विनोबा भावे ने गहन अध्यन व चिंतन किया। सामुदायिक नेतृत्व के लिए 1958 में अंतरराष्ट्रीय रेमन मैग्सेसे पुरस्कार पाने वाले वह पहले व्यक्ति थे। उनका निधन 15 नवंबर, 1982 को हुआ था। वर्ष1983 में मरणोपरांत उनको देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

Leave a Reply