केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं आईटी राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर और विधि एवं न्याय राज्य मंत्री ने उत्तर प्रदेश में 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज लॉन्च किए

श्री राजीव चंद्रशेखर- इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास एवं उद्यमशीलता राज्य मंत्री, भारत सरकार ने राज्य मंत्री (विधि एवं न्याय) श्री एसपी सिंह बघेल और एनआईएक्सआई के सीईओ श्री अनिल कुमार जैन के साथ मिलकर आज आगरा में पूर्वाह्न 11 बजे हुए मुख्य कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के कई शहरों में 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज नोड्स का शुभारम्भ किया। भारत में एनआईएक्सआई के इन नए इंटरनेट एक्सचेंजों के शुभारम्भ से उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में इंटरनेट और ब्रॉडबैंड सेवाओं की गुणवत्ता बढ़ाने और उसमें सुधार में सहायता मिलेगी, साथ ही उनके द्वारा उपलब्ध कराए गए इंटरनेट से उत्तर प्रदेश के लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव आएगा। एनआईएक्सआई के 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज नोड्स से राज्य में इंटरनेट इकोसिस्टम को बढ़ावा मिलेगा।

 

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001F0G9.jpg?w=810&ssl=1

 

इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर द्वारा दिया गया वक्तव्य

 

  1. आज हम वर्ष 2021 में हैं। यदि हम एक रिपोर्ट कार्ड बनाते हैं तो हमने प्रौद्योगिकी के माध्यम से लोगों के जीवन में बदलाव लाने की दिशा में बड़ी प्रगति की है।
  2. बीते एक साल में रिकॉर्ड एफडीआई आया है। अब हर महीने, हम 2 यूनिकॉर्न तैयार कर रहे हैं। दुनिया में भारत को सबसे तेजी से उभरता स्टार्टअप इकोसिस्टम बना रहे हैं।
  3. हम यहां एक छोटा बेंगलुरू नहीं, बल्कि एक बड़ा आगरा बनाएंगे। हम एक डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाएंगे।
  4. राजमार्ग होना महत्वपूर्ण है। लेकिन इंटरनेट के इन्फ्रास्ट्रक्चर, आई-वेज के लिए हम यह इंटरनेट एक्सचेंज ल़ॉन्च कर रहे हैं।
  5. अब यह माना जाता है कि निवेशक एक निवेश के केंद्र के रूप में उत्तर प्रदेश की ओर रुख करेंगे।
  6. उत्तर प्रदेश डिजिटल इंडिया पहल के तहत एक अहम हब के रूप में उभर रहा है।
  7. भारत डिजिटल इंडिया के दम पर ही कोविड महामारी से सफलतापूर्वक उबर सका है। नतीजतन, देश में अभी तक 135 करोड़ वैक्सीन लगाई जा चुकी हैं।
  8. इंटरनेट एक्सचेंज से न सिर्फ इंटरनेट यूजर्स और आईएसपी को फायदा होगा, बल्कि पूरा आईटी उद्योग लाभान्वित होगा।

 

विधि एवं न्याय राज्य मंत्री, भारत सरकार श्री सत्य पाल सिंह बघेल द्वारा दिया गया वक्तव्य

 

  1. मारकोनी ने काफी देरी से वायरलेस रेडियो की खोज की थी, जो यहां हमारे पास पहले से था। हमें अब अपने पूर्वजों द्वारा की गई खोजों को फिर से सामने लाने की जरूरत है।
  2. कोविड19 महामारी के बावजूद, इंटरनेट से देश को आगे बढ़ने का मौका मिला है। देश में अब कुछ भी रुकने वाला नहीं है।
  3. आगरा के सपने अब हैदराबाद और बेंगलुरू से मेल खाने लगे हैं और यह राष्ट्र का नया आईटी हब बन गया है।
  4. इंटरनेट एक्सचेंज और इंटरनेट की मौजूदगी हमें पेंशनभोगियों का शहर बनने से बचाती है।

 

23 दिसंबर को आगरा, लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर और मेरठ में एक साथ एनआईएक्सआई (नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया) के लॉन्च से राज्य के इंटरनेट इकोसिस्टम में सुधार का मार्ग प्रशस्त होगा। इससे राज्य में इंटरनेट में ज्यादा लचीलापन आएगा, इससे इंटरनेट यूजर्स को कम लागत में अच्छी स्पीड के साथ इंटरनेट मिलेगा और यूजर्स को बेहतर कंटेंट डिलिवरी होगी।

इस लॉन्च से स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, स्टार्टअप इकोसिस्टम से लेकर एमएसएमई और अन्य कारोबारी क्षेत्रों तक राज्य का लगभग हर क्षेत्र प्रभावित होगा। इससे उत्तर प्रदेश में आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और आईओटी के लिए एक मजबूत नींव तैयार होगी। सरकारी लाभ लेने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिहाज से नागरिकों के लिए पहुंच और सुविधा में बढ़ोतरी होगी। सात इंटरनेट एक्सचेंजों के खुलने से राज्य में हर किसी को लाभ होगा।

एनआईएक्सआई निकट भविष्य में इसी तरह टियर-2 और टियर-3 शहरों में कई छोटे नोड लॉन्च करने की योजना बना रही है, जिससे भारत में पूरे इंटरनेट इकोसिस्टम में सुधार हो और नेटिजंस अच्छी स्पीड के साथ सस्ते इंटरनेट का लाभ उठाने में सक्षम हो सकें।

एनआईएक्सआई सभी इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को किसी भी एनआईएक्सआई नोड्स पर पीयरिंग स्थापित करने और देश के इंटरनेट इकोसिस्टम में योगदान करने के लिए आमंत्रित करता है।

 

एनआईएक्सआई के बारे में :

नेशनल इंटरनेट एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एनआईएक्सआई) एक गैर लाभकारी संगठन है, जो निम्नलिखित गतिविधियों के माध्यम से भारत के नागरिकों के बीच इंटरनेट तकनीक के प्रसार के लिए वर्ष 2003 से काम कर रहा है: –

• इंटरनेट एक्सचेंज, जिनके माध्यम से आईएसपी के बीच और आईएसपी व सीडीएन के बीच इंटरनेट डाटा का आदान प्रदान होता है।

• भारत के लिए IN कंट्री-कोड डोमेन और भारत IDN डोमेन की बिक्री, प्रबंधन और परिचालन।

• एपीएनआईसी, ऑस्ट्रेलिया द्वारा अधिकृत के रूप में इंटरनेट प्रोटोकॉल (IPv4/IPv6) की बिक्री, प्रबंधन और परिचालन।

****

Leave a Reply