ट्रांस्को ने सिहावल में तैयार किया सीधी जिले का 5वां अति उच्चदाब सब-स्टेशन

75 किलोमीटर की जगह अब 200 मीटर से मिलेगी गिरूआ को सप्लाई

मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी (एम.पी. ट्रांस्को) ने सीधी जिले के सिहावल में 53.26 करोड़ रूपये की अनुमानित लागत से 132 के.व्ही. की 50 कि.मी. सिहावल-सीधी लाइन तथा 132 के.व्ही. का नया सब-स्टेशन तैयार किया है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बताया कि उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण बिजली उपलब्ध कराने के उद्देश्य से गत दिवस इस सब-स्टेशन को 50 एम.व्ही.ए. क्षमता के पावर ट्रांसफार्मर के साथ ऊर्जीकृत किया गया और 33 के.व्ही. फीडरों से उपभोक्ताओं के लिए विद्युत आपूर्ति शुरू भी कर दी गई है। नये सब-स्टेशन के बनने से जहाँ सीधी जिले की पारेषण क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है वहीं अब सिहावल क्षेत्र के उपभोक्ताओं को बेहतर गुणवत्ता की बिजली उचित वोल्टेज पर प्राप्त हो सकेगी।

75 किलोमीटर की जगह अब 200 मीटर से मिलेगी गिरूआ को सप्लाई

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने जानकारी दी कि इस सब-स्टेशन के बनने से सबसे ज्यादा फायदा गिरूआ क्षेत्र को होगा, जिसे पहले 75 किलोमीटर दूरी पर स्थित त्योंथर सब-स्टेशन से 33 के.व्ही. की सप्लाई मिलती थी। अब गिरूआ क्षेत्र को मात्र 200 मीटर लंबी लाइन से सप्लाई मिलेगी, जिससे इस क्षेत्र को कम व्यवधान की गुणवत्ता पूर्ण बिजली उचित वोल्टेज पर प्राप्त हो सकेगी। इसी तरह बीछी को मिलने वाले सप्लाई 70 किलोमीटर की जगह 22 किलोमीटर लंबी लाइन से मिलने लगेगी और उकसा तथा अमिलिया क्षेत्र के लिये मात्र 12 किलोमीटर की लाइन होगी।

33 के.व्ही. के चार फीडरों से मिलेगी सप्लाई

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने बताया कि सिहावल के 132 के.व्ही. सब-स्टेशन से अब इस क्षेत्र के पाँच 33/11 के.व्ही. के उप केन्द्रों को 33 के.व्ही. के चार फीडरों की मदद से सप्लाई मिला करेगी। इनमें 33 के.व्ही. के अमलिया, बीछी (सिंगरौली), गिरूआ और उकसा क्षेत्र शामिल है। यहाँ करीब 27 हजार विद्युत उपभोक्ता लाभांवित होंगे, जिन्हें गुणवत्तापूर्ण बिजली न्यूनतम व्यवधान पर मिलेगी।

सीधी जिले का पाँचवा अति उच्चदाब सब-स्टेशन

सिहावल, सीधी जिले का पाँचवा अति उच्चदाब विद्युत सब-स्टेशन है। इसके पहले मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी 220 के.व्ही. सब-स्टेशन सीधी, 132 के.व्ही. सब-स्टेशन सीधी, 132 के.व्ही. सब-स्टेशन रामपुर नेकिन तथा 132 के.व्ही. सब-स्टेशन मडवास से सीधी जिले में विद्युत आपूर्ति किया करती थी।

पारेषण क्षमता में हुई बढ़ोत्तरी

सब-स्टेशन के प्रारंभ हो जाने से सीधी जिले की पारेषण क्षमता बढ़कर 600 एम.व्ही.ए. की हो गई, जिसमें 320 एम.व्ही.ए. 220 के.व्ही. साइड तथा 280 एम.व्ही.ए. 132 के.व्ही. साइड हैं।

अप्रैल 1987 में प्रारंभ हुआ था सीधी जिले का पहला अति उच्चदाब सब-स्टेशन

सीधी जिले में पहला अति उच्चदाब सब-स्टेशन 29 अप्रैल 1987 को 132 के.व्ही. सब-स्टेशन सीधी के नाम से प्रारंभ हुआ था। तब उसकी क्षमता 20 एम.व्ही.ए. की थी, जो आज बढ़ कर 80 एम.व्ही.ए. हो गई है। 132 के.व्ही. सब-स्टेशन रामपुर नेकिन की क्षमता 40 एम.व्ही.ए., 220 के.व्ही. सब-स्टेशन सीधी में 220 के.व्ही. सब-स्टेशन साइड की क्षमता 320 एम.व्ही.ए. एवं 132 के.व्ही. साइड की क्षमता 60 एम.व्ही.ए. तथा मडवास 132 के.व्ही. सब-स्टेशन की क्षमता 50 एम.व्ही.ए. की है।

Leave a Reply