सुरक्षा समितियों से जुड़ीं सात हजार महिलाएं

सुरक्षा समितियों से जुड़ीं सात हजार महिलाएं

अधिक से अधिक महिलाओं को जोड़ने की हो रही अपील -गांवों के हर अवैध काम पर रहेगी महिलाओं की निगाह

हरदोई: गांवों में महिलाओं की सुरक्षा ही नहीं उन्हें सुरक्षा का अहसास दिलाने के लिए गठित कराई जा रहीं महिला सुरक्षा समितियों में अधिक से अधिक महिलाओं को जोड़ा जा रहा है। अभी तक सात हजार महिलाएं जुड़ चुकीं हैं। गांवों में महिला सुरक्षा समितियों का गठन कर पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने नई पहल की थी, जिसमें हर गांव की जागरूक महिलाओं को जोड़ा जा रहा है। एंटी रोमियो स्क्वाड प्रभारी नोडल अधिकारी बनाई गईं हैं और थाना प्रभारी से लेकर पुलिस अधिकारी तक उनके संपर्क में रहेंगे। एसपी ने बताया कि गांव में अगर कोई भी गलत काम होता है, किसी महिला को परेशान किया जा रहा, गांव में रास्ते में कोई आवारागर्दी करता है इन सभी की कोई भी महिला चुपचाप सूचना दे देंगी। थाना पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी। गांवों में शराब से परिवार तबाह हो रहे हैं, इस पर भी महिलाएं निगाह रखेंगी अगर गांव में कोई शराब बनाता या बेचता है, जुआ खेला जाता है तो उसकी सूचना देगी। महिलाओं का एक वाट्सएप ग्रुप बनाया गया है। कोई भी महिला सीधे अधिकारियों को भी सूचना दे सकता है। एसपी ने कहा कि अधिक से अधिक महिलाओं को जोड़ने की अपील की जा रही है।

घरेलू हिसा के खिलाफ महिलाएं उठा रहीं आवाज: हरदोई : घरेलू हिसा की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। महिलाओं से होने वाली घटनाओं को रोकने के लिए सरकार ने हर थाने में महिला हेल्प डेस्क शुरू की। वहीं इससे पूर्व सखी वन स्टॉप सेंटर भी शुरू किए। महिलाएं भी अब चुप्पी तोड़कर अपनी आवाज को उठा रही हैं। प्रत्येक महिला हेल्प डेस्क पर रोजाना आठ से दस शिकायतें आ रही हैं, साथ ही वन स्टॉप सेंटर पर भी लगातार मामले बढ़ रहे हैं। इन मामलों को विभाग गंभीरता से लेकर निस्तारित भी करा रहा है। सरकार के निर्देश पर लगातार महिलाओं को जागरूक किया जा रहा है। हर थाने पर रोजाना ही आठ से दस मामले आ रहे हैं, वहीं सखी वन स्टॉप सेंटर में भी रोजाना शिकायतें आती हैं। इनमें सबसे अधिक घरेलू हिसा की होती हैं। जिला प्रोबेशन अधिकारी एसके सिंह ने बताया कि महिलाएं अपनी चुप्पी तोड़ रही हैं, जिस कारण लगातार शिकायतें बढ़ रही हैं। सखी वन स्टॉप सेंटर पर अब तक लगभग 1863 शिकायतें आ चुकी हैं।

सबसे अधिक शिकायतें घरेलू हिसा की : थानों पर बने महिला हेल्प डेस्क और वन स्टॉप सेंटर पर सबसे अधिक शिकायतें घरेलू हिसा की आती है, जिसमें पति द्वारा आए दिन मारपीट और सास द्वारा प्रताड़ित करने के मामले आते हैं।

Leave a Reply