खस्ताहाल उज्जैन-चँवली मार्ग का निर्माण हुआ शुरू जनवरी 2024 तक होगा पूरा निर्माण

आगर मालवा (आशिक मंसुरी जिला ब्युरोचीफ)। पूरी तरह से खस्ताहाल में पहुँच चुके उज्जैन चँवली मार्ग पर हो रहे बड़े बड़े उबड़ खाबड़ गड्डो से जल्द लोगो को राहत मिलने वाली है। गुजरात की जीएलभी इंडिया प्रायवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा उज्जैन से चँवली तक 134 किलोमीटर मार्ग को 10 से 12 मीटर चौड़ीकरण एवं निर्माण का कार्य गत दिवस प्रारम्भ कर दिया है अभी ये मार्ग सुसनेर से आमला के बीच बनना प्रारम्भ हो गया है। वही जानलेवा साबित हो चुके इस मार्ग के कम चौड़ाई के कारण आये दिन इस पर दुर्घटनाये होने से सैकड़ो लोगो की जान जा चुकी है परन्तु अब इसके 10 मीटर से ज्यादा चौड़ा बनने से आये दिन होने वाली दुर्घटनाओं के साथ साथ आवागमन में भी काफी सुविधा मिलेगी। इस मार्ग का निर्माण एनएचएआई (नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया) के द्वारा किया जा रहा है। 550 करोड़ की लागत से टू-लेन सड़क का निर्माण प्रारम्भ हो चुका है।

सड़क का काम तो सालभर में पूरा हो जाएगा, लेकिन दो बड़े व करीब 4 छोटे पुलों के काम में 2 साल का समय लग सकता है। इस कारण इसको पूरी तरह तैयार होने में 2024 तक का समय लग सकता है। उज्जैन-चवली मार्ग पर टू-लेन बनने से आगर जिले के सुसनेर, सोयत, नलखेड़ा क्षेत्र के लोगों को ही नहीं राजस्थान से आने-जाने वाले लोगों को भी काफी फायदा होगा तथा दुर्घटना में भी कमी आएगी। करीब ढाई साल पहले एमपीआरडीसी ने 134 किलोमीटर लंबी इस सड़क को एनएचएआई को हेंडअवर कर दिया था, इसके बाद एनएसएआई ने गजट नोटिफिकेशन करके इस सड़क पर नेशनल हाइवे बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी तथा इस सड़क को 552जी नाम दिया गया था, लेकिन उज्जैन से कोटा की बीच की दूरी कम करने तथा ग्रीन बेल्ट के चक्कर में उज्जैन से गरोठ के पास होते हुए कोटा के लिए दूसरे प्रोजेक्ट पर एनएचएआई काम करने लगी। इस कारण उज्जैन-चवली मार्ग का काम अटक गया। कुछ दिनों पहले यह संभावना जताई जा रही थी कि एमपीआरडीसी ही इस मार्ग पर सड़क बनाएगा, लेकिन अब एनएचएआई ने यहां सड़क बनाने की तैयारी शुरू कर दी है एवं टेंडर प्रकिया पूर्ण होने के बाद गुजरात की कम्पनी ने इसका निर्माण प्रारम्भ कर दिया है। इस मार्ग पर एनएचएआई 10 मीटर चौड़ी सड़क बनाने के साथ ही दो-दो मीटर के पेव्ड शोल्डर बनवाएगा। इस प्रकार यह सड़क एक प्रकार से मेगा हाइवे हो जाएगी। पूरा प्रोजेक्ट साढ़े 500 करोड़ का बताया जा रहा है। सड़क का निर्माण जल्द पूरा हो इसलिए एनएचएआई के अधिकारी सड़क का निर्माण तीन अलग-अलग ठेकेदारों से करवाने की प्लानिंग कर रहे हैं। 40-40 किलोमीटर तीन ठेकेदारों द्वारा सड़क बनाए जाने से काम सालभर में पूरा हो जाएगा। इस मार्ग पर तीन बड़े तथा चार से अधिक छोटे पुल है। इनमें से कंठाल एवं चँवली पुल का निर्माण एनएचएआई करवाएगा, जबकि पाट नदी पर लोकनिर्माण विभाग के ब्रिज डिविजन उज्जैन द्वारा पुल बनवाया जा रहा है। इस मार्ग पर जैथल, ढाबला, तनोड़िया व जमाल नाला सोयत ऐसे स्थान हैं जहां बारिश के दिनों में पानी सड़क के ऊपर बहने लगता है। इसके चलते जाम लग जाता है और लोगों को घंटों तक पानी उतरने का इंतजार करना पड़ता है।

“10 मीटर चौड़ी सड़क
उज्जैन-चवली मार्ग पर टू-लेन के बनाया जा रहा है जो करीब 550 करोड़ रुपए की लागत से यहां सड़क का निर्माण पूरा होगा। पुल-पुलिया भी नई बनाई जाएगी। सड़क 10 मीटर चौड़ी होगी तथा दो-दो मीटर के शोल्डर बनाए जाएंगे।”

रविंद्र गुप्ता, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई उज्जैन।

Leave a Reply