राशन लेने में अगर आप भी कर रहे हैं ऐसी गलती तो हो जाए सावधान हो सकती है 5 साल की जेल

  • देश में वन नेशन, वन राशनकार्ड की शुरुआत
  • राशन लेने में अगर कर रहे हैं गलती तो सकती है जेल की सजा, देना पड़ सकता है जुर्माना
  • फर्जी रूप से राशन लेना या कार्ड बनवाना कानूनी रूप से अपराध

Ration Card Latest News : केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार लोगों को बड़ी राहत देते हुए देश भर में वन नेशन, वन राशन (One Nation, One Ration) की शुरुआत कर दी है.

इस समय राशन कार्ड में नाम जोड़ने और नाम हटाने का काम तेजी से जारी है. जिसमें कई जगहों से धोखाधड़ी की खबरें भी आ रही हैं. ऐसे मामले भी सामने आये हैं, जिसमें मृत व्यक्ति के नाम पर भी लोग फर्जी रूप से राशन उठा रहे हैं.

लेकिन अब ऐसे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए सरकार ने सख्त नियम बना दिये हैं. जिसमें अगर कोई व्यक्ति फर्जी रूप से राशन में अपना नाम डलवाता है या फिर राशन कार्ड में दर्ज व्यक्ति की मौत होने के बाद भी उसके नाम पर राशन उठाता है, तो वैसे लोगों के लिए सख्त कार्रवाई हो सकती है. उसे जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है.

राशन कार्ड बनवाने के लिए कुछ नियम और शर्तों का पालन करना बेहद जरूरी है. अब वैसे लोगों को ही राशन दिये जाने का प्रावधान है, जो वास्तव में उसके हकदार हैं. कई लोग गरीबी रेखा से नीचे या फिर अंत्योदय योजना को लेकर गलत दस्तावेज देते हैं और फर्जी रूप से अपना राशन कार्ड बनवाते हैं. लेकिन फूड सिक्योरिटी एक्ट के तहत फर्जी राशन कार्ड बनवाना एक दंडनीय अपराध है. अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसे पांच साल की जेल और जुर्माना देना पड़ सकता है.

इसके अलावा अब कोई व्यक्ति राशन कार्ड बनवाने के लिए अधिकारी को रिश्वत देता है या फिर अधिकार रिश्वत लेकर किसी व्यक्ति को फर्जी रूप से राशन कार्ड बनाकर देता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सकती है. उसे जेल और जुर्माना देना पड़ सकता है.

गौरतलब है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने पूरे देश में वन नेशन वन राशनकार्ड पोर्टेबिलिटी सुविधा शुरू कर दी है. जिससे लगभग देश के सभी राज्य जुड़ चुके हैं. इस नये नियम के अनुसार कोई भी कार्डधार देश के किसी भी कोने में अपना राशन ले सकता है. राशन लेने के लिए राज्य का नागरिक होने की बाध्यता को भी हटा दिया गया है. देश भर में वन नेशन, वन राशन लागु होने तथा Latest News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें हमारे साथ.

Leave a Reply