कोरोना से लड़ने की तैयारियाँ पूरी फिर भी सावधानी जरूरी : स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी



प्रदेश में कोरोना महामारी से लड़ने की पूरी तैयारियाँ हैं। इसके बाद भी आम नागरिकों से आग्रह है कि वह कोरोना से बचाव के व्यवहार को अपनाते हुए सावधानियाँ रखें। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री Dr Prabhuram Choudhary ने रविवार 3 अक्टूबर को के.एन. काटजू अस्पताल परिसर से कोविड वैक्सीनेशन मोबाइल वेन को जिलों के लिए रवाना करने के कार्यक्रम में इस आशय के विचार व्यक्त किए।

मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि आज ग्वालियर, श्योपुर, पन्ना, अनूपपुर, बालाघाट जिलों के लिए पाँच-पाँच और अलीराजपुर जिले के लिए 3 कोविड वैक्सीनेशन मोबाइल वेन भेजी जा रही हैं। इन मोबाइल वेन में एक वैक्सीनेटर और एक वेरीफायर रहेगा। वेन में ही वैक्सीन बाइल रखे जाएँगे। यह वैक्सीन वेन जिले में उस हर उस स्थान पर जाएँगी, जहाँ से लोग वैक्सीन लगवाने कोविड टीकाकरण केन्द्र नहीं पहुँच रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य प्रदेश के 100 प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को इस वर्ष दिसंबर अंत तक कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगाना हैं। वैक्सीन वेन अब से लगातार दिसंबर अंत तक जिलों में कार्य करेंगी। जरूरत पड़ने पर इन वैन का उपयोग आगे भी किया जाएगा। भोपाल जिले में पहले से 8 कोविड मोबाइल वैक्सीनेशन वेन सफलतापूर्वक टीकाकरण के कार्य में सहयोग दे रही हैं।

मंत्री डॉ. चौधरी ने कोविड वैक्सीनेशन मोबाइल वेन उपलब्ध कराने पर केयर इंडिया का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई को सभी वर्गों को मिलकर लड़ना है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में समाज के हर वर्ग और हर नागरिक ने कोरोना कवच के रूप में कोरोना टीकाकरण में महत्वपूर्ण सफलता पाई है। मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के संकल्प अनुसार प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार किया गया हैं। प्रदेश के जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 200 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं।

प्रदेश में अब दूसरे राज्यों से परिवहन से आक्सीजन की निर्भरता नहीं रही, प्रदेश के अस्पताल आक्सीजन आपूर्ति में आत्मनिर्भर हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन की सप्लाई लाइन का विस्तार कर ऑक्सीजन बेड की संख्या को बढ़ाया गया है। आईसीयू बेड बनाए गए हैं। कोरोना के इलाज की सभी तैयारियाँ पूरी की गई है। इसके बाद भी नागरिकों से आग्रह हैं कि कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतें। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के मामले में प्रदेश देश में कई मानकों पर नंबर एक है।

प्रदेश में कुल पात्र व्यक्तियों, जिनको कोरोना वैक्सीन लगाई जाना है उसकी संख्या 5 करोड़ 49 लाख है। अब तक 4 करोड़ 80 लाख को पहली डोज और डेढ़ करोड़ से अधिक को दूसरी डोज से अधिक लगाई जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में समाज के सभी वर्गों के सहयोग से प्राप्त किया जा सका है। कार्यक्रम में संचालक एनएचएम डॉ. संतोष शुक्ला, सलाहकार डॉ. ओ. पी. एस. ओहरी, भोपाल जिले के सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी, डीआईओ डॉ. उपेंद्र दुबे और केयर इंडिया की प्रतिनिधि डॉ. अबोली गोरे मौजूद थी।

Leave a Reply