विदिशा एसपी डॉ. मोनिका शुक्ला एवं एएसपी समीर यादव ने पी.डब्लू.डी. ऑफिस मे हुई हत्या की घटना का पर्दाफाश किया

DG NEWS VIDISHA

संवाददाता सुरेश मालवीय 8871288482

विदिशा । दिनांक 02.06.2022 को पी.डब्लूडी. ऑफिस में रंजीत सोनी, उम्र 46 साल, निवासी मुखर्जीनगर विदिशा की अज्ञात हमलावर द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हमलावर गोली मारकर मौके से फरार हो गया। जिसके पश्चात् वरिष्ठ अधिकारियो द्वारा तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर मौके का निरीक्षण किया गया। थाना सिविल लाईन विदिशा में अपराध कमांक 322/2022 धारा 302,201 भादवि का दर्ज किया गया। तत्काल आरोपी की पतारसी एवं गिरफ्तारी हेतु टीमें बनाकर निर्देशित किया गया। घटना के अनुसंधान में आये साक्ष्य अनुसार मृतक रंजीत सोनी के पूर्व में ठेकेदारी के कार्य में चल रही रंजिश के बिन्दुओ पर पूछताछ करने पुरानी रंजिश पर ठेकेदार ऐश कुमार चौबे, जसवंत रघुवंशी एवं नरेश शर्मा से विवाद की बात सामने आई। दोनों पक्षों में एक दूसरे के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज कराए है इसके अतिरिक्त माननीय सी.जे.एम. न्यायालय विदिशा में 138 एन.आई.एकट का जसबंत सिंह विरूद्ध रंजीत सोनी वर्ष 2016, 4.60000 (चार लाख साठ हजार) रूपये का चैक बाउन्स का प्रकरण विचाराधीन है। जिसमें दिनांक 03.06.2022 को पेशी नियंत थी। जिसमें बचाव साक्ष्य में मृतक के द्वारा जसवंत सिंह रघुवशी के विरू दस्तावेज पेश किया जाने थे। वर्ष 2017 में थाना सिविल लाईन विदिशा में प्रकरण धारा 279,337,338 भादंवि, जिसमें फरियादी ऐश कुमार चौबे, गवाह जसवंत रघुवंशी एवं नरेश शर्मा के द्वारा मृतक रंजीत सोनी पर प्रकरण पंजीबद्ध कराया गया। इसके पश्चात् मृतक रंजीत सोनी की रिपोर्ट पर आरोपी ऐश कुमार चौबे के विरूद्ध धारा 279,337,338 भादंवि का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया, जो माननीय न्यायालय में विचाराधीन है । पूर्व की रंजिश के बिन्दुओं पर सन्देही ठेकदार ऐश कुमार चौबे, जसवंत रघुवंशी, एवं नरेश शर्मा से पूछताछ करने पर यह तथ्य सामने आया कि मृतक रंजीत सोनी एवं ठेकेदार ऐश कुमार चौबे, जसवंत रघुवंशी एवं नरेश शर्मा के बीच पूर्व से ठेकेदारी एवं पैसों के लेन-देन को लेकर रंजिश चली थी। जिसमें दोनों पक्षों की ओर से प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन थे। आरोपियों द्वारा बताया गया कि मृतक द्वारा ठेकेदारी में उनको बडा नुकसान पहुंचाया गया और छनके बीच पुराने लेन-देन के विवाद का तथ्य भी सामने आया। जिसके बाद तीनों ने मृतक की हत्या की साजिश रची। शैलेन्द्र पटेल, निवासी जमुनिया कलाँ के माध्यम से उसकी जान-पहचान के अंकित यादव उर्फ टुण्डा से संपर्क किया और उसे काम करने के बदले पैसे देना तय किया। घटना दिनांक को आरोपी अंकित यादव चर्फी टुण्डा मौके पर मोटर साईकिल से गया। जहां अकित यादव उर्फ टुण्डा के द्वारा माउजर से एक राउण्ड रंजीत सोनी के सिर के पीछे फायर कर हत्या कर दी गई और मौके से फरार हो गया। पुलिस की अलग-अलग टीमों के द्वारा सभी संदेहीयों से पूछताछ एवं आरोपियों की तलाश की गई। जिस पर आरोपी अंकित यादव चर्फ टुण्डा को पुलिस टीम द्वारा ग्राम जुनियापुल थाना सिलवानी, जिला रायसेन से हथियार माउजर, पिस्टल, तीन जिंदा कारतूस सहित हिरासत में लिया गया। प्रकरण में रंजीत सोनी की हत्या के सभी पहलुओं पर अनुसंधान किया जा रहा है एवं हिरासत में लिये गये आरोपियों के विरूद्धानिक कार्यवाही की जा रही है। इस अत्यंत संवेदनशील एवं गंभीर अपराध में आरोपियों की पतारसी व हिरासत में लिये जाने के लिए पुलिस अधीक्षक विदिशा डॉ, मोनिका शुक्ला, के निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विदिशा श्री समीर यादव के नेतृत्व व मार्गदर्शन में उप पुलिस अधीक्षक सौरभ तिवारी, थाना प्रभारी सिविल लाईन विदिशा निरीक्षक योगेंद्र सिंह दांगी, थाना प्रभारी कोतवाली विदिशा निरीक्षक आशुतोष सिंह राजपूत, गिरीश दुबे, उप निरीक्षक महेन्द्र शाक्षक रणवीर सिंह, छनि पीएस चौहान, उनि संतोष गौतम, सउनिश मिश्रा, प्र0आर0 रामस्वरूप सोनी, प्र0आर0 भानूप्रकाश एफएसएल, प्रOआर0 सुनील गंधर्व, प्रOआर0. राजकुमार शर्मा, प्र0आर0 राजेश यादव, प्र0आर0 हरीश मालवीय, प्र0आर0 सुरेश बघेल, आर0 अखिलेश राजावत, आर0 सोनू राजपूत, आर0 अमर दांगी, आर0 दीपक बघेल, आर0 जितेन्द्र खटीक, आर0 दिनेश रघुवंशी, आर0 कुलदीप चंदेल, आर0 अजय सिकरवार, आर0 सचिन सोनी द्वारा उत्कृष्ट कार्य किया जाकर सभी की भूमिका अत्यंत सराहनीय एवं प्रशंसनीय रही है। पुलिस अधीक्षक विदिशा के द्वारा उक्त सभी उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नगद इनाम से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

,

About सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS

View all posts by सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS →

Leave a Reply