विश्व पर्यावरण दिवस पर मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा पर्यावरण संरक्षण विषय पर चित्रकला एवं स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा ब्रिलियन्ट कन्वेंशन सेंटर में पर्यावरण संरक्षण विषय पर चित्रकला प्रतियोगिता एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं द्वारा भाग लिया गया। छात्र-छात्राओं द्वारा 3 घंटे की अवधि में “ओनली वन अर्थ” जल संरक्षण, वायु प्रदूषण नियंत्रण, पॉलीथीन के दुष्प्रभाव, ध्वनि प्रदूषण, मृदा प्रदूषण इत्यादि विषयों पर सुंदर-सुंदर चित्र बनाए गए।

बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी श्री एस. एन. द्विवेदी ने बताया कि चार श्रेणियों में इस प्रतियोगिता को आयोजित किया गया। प्रतियोगिता की श्रेणी क्रमश: कक्षा 3री से 5वी तक , कक्षा 6वी से 08 वी तक, कक्षा 9 से 12वी तक एवं महाविद्यालयीन छात्र-छात्राएँ रखी गई। प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं का चयन आगामी दिवसों में कर, निर्णय से छात्र-छात्राओं को टेलिफोनिक माध्यम से अवगत कराकर उन्हें पुरुस्कृत किया जायेगा। प्रतियोगिता के दौरान छात्र-छात्राओं के साथ पधारे उनके माता पिता हेतु भी एक स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिता में बच्चों के माता-पिता द्वारा बढ़-चढ़कर भाग लिया गया तथा हिन्दी / अंग्रेजी में स्लोगन लिखे गये।

उक्त प्रतियोगिता के पश्चात क्षेत्रीय अधिकारी श्री द्विवेदी द्वारा छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को प्लास्टिक एवं पॉलीथीन के उपयोग से होने वाले पर्यावरणीय दुष्प्रभावों से अवगत कराते हुए बताया गया कि पॉलीथीन से जमीन बंजर होने, भूजल संवर्धन में कमी आने, पशुओं की अकाल मृत्यु एवं जल-मल निकासी अवरूद्ध होने जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है। भारत सरकार द्वारा प्लॉस्टिक अपशिष्ठ प्रबंधन (संशोधन) नियम, 2021 के माध्यम से प्लॉस्टिक एवं थर्मोकोल आदि से निर्मित सिंगल यूज प्लॉस्टिक की चिन्हित वस्तुएँ 01 जुलाई 2022 से प्रतिबंधित की गई है। उपरोक्त नियमों में यह प्रावधान किया गया है कि प्लॉस्टिक एवं थर्मोकोल की चिन्हित वस्तुओं की उत्पादन, भण्डारण, परिवहन, क्रय विक्रय एवं उपयोग 01 जुलाई 2022 से प्रतिबंधित किया गया है। कार्यक्रम के संचालक श्री सुनील व्यास, वैज्ञानिक द्वारा भी पॉलीथीन के उपयोग के दुष्परिणाम एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के संबंध में छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को जानकारी दी गई। बोर्ड द्वारा कार्यक्रम में आये सभी पालकों से प्रतिबंधित पॉलीथीन का उपयोग नहीं करने की अपील की गई।

Leave a Reply