एटीएम बदलकर लोगों को ठगी का शिकार बनाने वाले अंतर्राज्यीय ठग गिरोह के सदस्य पुलिस के शिकंजे में* घेराबंदी कर दबोचा स्कैनिंग डिवाईस सहित कई एटीएम, मोबाईल, नगदी व वाहन सहित कुल 6 लाख 84 हजार का मसरूका जप्त

थाना कोतवाली, राजगढ़देशभर में बढते सायबर अपराधों के चलते लगातार जनता का पैसा धोखाधडी के जरिये निकाला जा रहा है और लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है, अपराधियों के हौसले भी इतने बुलंद हो चले हैं कि वे बिना किसी भेद के लगातार इस धोखाधड़ी के नये नये तरीके अख्तियार कर लोगों को ठग रहे हैं। जिला राजगढ में कोतवाली क्षेत्रांतर्गत भी एक प्रकरण सामने आया है जिसके तहत फरियादी को चकमा देकर धोखे से उसका एटीएम बदलकर उसके साथ धोखाधड़ी की गई और उसके खाते से रकम उड़ा ली गई, इस घटना को इतने शातिराना तरीके से अंजाम दिया गया कि फरियादी को इसकी भनक भी नहीं लगी। आज दिनांक 21/01/2020 को थाना कोतवाली राजगढ में फरियादी गोविन्द गुर्जर द्वारा सूचना दी गई कि सुबह एटीएम से पैसे निकालते वक्त कुछ लोग उसके पीछे खड़े थे जिन्होने पैसे निकालते वक्त उसकी सहायता की और एटीएम बदलकर उसके खाते से 5000 रूपये उड़ा लिये, फरियादी को भी धोखाधड़ी का अंदेशा तब हुआ जब उसने बैंक पहुचंकर पासबुक में एण्ट्री करवाई, फरियादी की सूचना पर थाना कोतवाली की पुलिस टीम तत्काल एक्टिव होकर कड़ी से कड़ी जोड़कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफल हुई। जिला पुलिस कप्तान श्री प्रदीप शर्मा द्वारा जिले में पिछले दिनों हुई ऐसी ही कुछ वारदातों के बाद जिले के समस्त थाना प्रभारियों को विशेष रूप से सतर्कता बरतने के निर्देष दिये गये थे जिस पर घटना की पुनरावृत्ति होने से थाना प्रभारी कोतवाली राजगढ़ द्वारा उप निरीक्षक धर्मवीर पलैया के नेतृत्व में तत्काल एक टीम को आरोपियों की पतारसी के लिये रवाना किया, टीम द्वारा नाका नंबर 03 पर पहुंचकर एटीएम के आसपास पतारसी की तो पता चला कि एक स्विफ्ट कार में से कुछ लडके उतर कर एटीएम के आस पास घूम रहे थे जो संदिग्ध प्रतीत हो रहे थे पुलिस की टीम ने देर न करते हुए कड़ी से कड़ी जोडकर संदिग्ध वाहन स्विफ्ट कार को कुंडक्या नाला की पुलिया के पास से घेराबंदी कर पकडने में सफलता हासिल की। वाहन में चार लोग सवार थे जिन्हें रोककर उनसे पूछताछ की तो उनके द्वारा पहले तो अपने आपको टूरिस्ट बताकर यहां घूमने आना बताया फिर उनके जवाब कुछ अटपटे से लगे तो गहराई से पूछताछ कर तलाषी लेने पर आरोपियों के पास से 10 एटीएम और एक प्लास्टिक का एटीएम स्कैनिंग डिवाइस प्राप्त हुआ, तब पूरा माजरा पुलिस टीम के समझ आ गया आरोपियों को हमराह लेकर वापस थाना आए आरोपियों में वसीम पिता फईमउद्ीन मेव निवासी ग्राम चिराचेटा बुलंदषहर उत्तरप्रदेष, अवनीष पाल पिता विजेन्द्र पाल निवासी ग्राम आनंदपुर थाना आमपुर जिला काषगंज उत्तरप्रदेष, आरिफ पिता कलुआ मेवाती निवासी ग्राम चिरचिटा बुलंदषहर थाना सलेमपुर उत्तरप्रदेष व दिलषाद खान पिता अंसार खान निवासी ग्राम चिरचिटा बुलंदषहर थाना सलेमपुर उत्तरप्रदेष के हैं जिन्होने बताया कि उत्तरप्रदेष से आगरा ग्वालियर होते हुए राजगढ आए थे रास्ते में कई और जगहों पर भी एटीएम बदलकर पैसे निकालने की घटना इनके द्वारा की गई है, उक्त घटनाओं के बारे में जानकारी निकाली जा रही है। आरोपी बहुत ही शातिर प्रवृत्ति के हैं जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि एटीएम पर लोगों को गुमराह करके इनके द्वारा कई लोगों के साथ धोखाधडी को अंजाम दिया गया है, आरोपियों के विरूद्ध थाना कोतवाली में अपराध क्रमांक 49/2020 धारा 420 भादवि के तहत पंजीबद्ध कर विधिवत गिरफ्तार किया गया है, आरोपियों से अलग अलग बैंकों के कुल 10 एटीएम सहित एक एटीएम स्कैनिंग डिवाइस, तीन एंड्राॅयड एवं एक सैंमसंग का कीपैड मोबाईल कीमती 68 हजार 800 रूपये, एक स्विफ्ट वाहन क्रमांक डीएल 01 जेडसी 3234 कीमती 06 लाख रूपये, व 15500 रूपये नगद सहित कुल 6 लाख 84 हजार 300 रूपये का कुल मसरूका व दस्तावेज विधिवत जप्त किया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक श्री प्रदीप शर्मा के निर्देषन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नवल सिंह सिसौदिया एवं अनुविभागीय पुलिस अधिकारी राजगढ सुश्री सौम्या अग्रवाल के मार्गदर्षन में थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक जे.बी. राय के नेतृत्व में कोतवाली पुलिस की टीम ने अंतर्राज्यीय ठग गिरोह को पकडने में बहुत बड़ी सफलता हासिल की है आरोपियों को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर पुलिस रिमांड प्राप्त किया जावेगा जिससे कई अन्य खुलासे होने की संभावना है। थाना कोतवाली की पुलिस टीम में थाना प्रभारी निरीक्षक जे.बी. राय के नेतृत्व में उप निरीक्षक धर्मवीर सिंह पलैया, प्रआर 60 मोहन सिंह, आर. 358 बालिस्टर रघुवंषी, आर 820 नरेन्द्र जाट, आर. 260 प्रद़युम्न, आर. 520 ललित तोमर सहित सायबर सैल से आरक्षक 252 शशांक सिंह यादव व आरक्षक 816 रवि कुशवाह का सराहनीय योगदान रहा है। इस संपूर्ण कार्यवाही में थाना कोतवाली से उप निरीक्षक धर्मवीर पलैया और सायबर सैल से आरक्षक 816 रवि कुशवाह की भूमिका महत्वपूर्ण रही इनके द्वारा घटित सायबर अपराध पर तत्काल कार्यवाही करने से आरोपियों को शिकंजे में लेने में पूरी टीम को सफलता प्राप्त हुई है।

Leave a Reply