किसान विरोधी तीन काले कानून और बिजली संशोधन बिल के खिलाफ दिया धरना

किसान विरोधी तीन काले कानून और बिजली संशोधन बिल के खिलाफ दिया धरना आज स्थानीय अंबेडकर पार्क पर किसान संगठन एआईकेकेएमएस ने केंद्र सरकार द्वारा थोपे गए तीन कृषि विरोधी काले कानूनों व बिजली संशोधन कानून के खिलाफ धरना का आयोजन किया। धरना की शुरुआत में किसान आन्दोलन में शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उसके बाद जागो मजदूर किसान जन गीत की प्रस्तुति हुई। धरना को ऐ आई के के एम एस के राज्य सचिव मनीष श्रीवास्तव ने मुख्य वक्ता के तौर पर संबोधित करते हुए कहा कि आज किसान अपनी उपज को बचाने के लिए पूरे देश में संघर्ष कर रहा है। दिल्ली देश के किसानों के आंदोलन का प्रेरणा स्रोत बना हुआ है। सरकार देश के किसानों को अदानी-अंबानी जैसे देशी विदेशी पूंजीपतियों का गुलाम बनाने के लिए तीन काले कृषि कानून लाई है। पहले कानून के तहत सरकारी मंडियों को खत्म कर दिया गया है व कंपनियों को बिना टैक्स दिए खरीदी करने की छूट दे दी गई है। दूसरे कानून के तहत कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग होगी जिसमें अनुबंध के द्वारा किसान अपने ही खेत में बंधुआ मजदूर की भांति हो जाएगा और तीसरे कानून के तहत आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी कालाबाजारी को खुली छूट दे दी गई है जिसके कारण कानूनी तौर पर प्राइवेट कंपनियां जमाखोरी और कालाबाजारी कर सकेंगे जिसके कारण महंगाई लगातार बढ़ती जाएगी और देश की 135 करोड़ आबादी दाने दाने के लिए मोहताज हो जाएगी। उन्होंने कहा कि देश का किसान इस अन्याय के खिलाफ जी जान से लड़ने को तैयार है। संगठन के जिला अध्यक्ष मोहनसिंह यादव ने कहा कि यह सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है इससे पहले सरकार द्वारा जो कानून लाए गए उनके कारण भी देश की जनता परेशान हुई है। किसानों के हित के नाम पर लाए गए यह काले कानून किसानों के साथ धोखा है। इन काले कानूनों के लागू होने के बाद किसान अपनी ही जमीन पर खेती करने लायक नहीं रहेगा। धरने को श्याम सिंह राजपूत, इंद्रपाल यादव राजभान, हरिसिंह आदि किसानों ने भी संबोधित किया। धरने में तुमेण, बिजोरी, सिकंदरा, नागेश्री, दत्ता कनारी, बेरखेड़ी, नारायणपुर, गुचराई, मुंडारा, सन्दोह, जोगिया चक आदि गांवो से किसान भाई इस धरने में मौजूद रहे। धरने का संचालन संगठन के जिला सचिव कृष्ण कुमार बैरागी ने किया। अशोक नगर से आकाश यादव की रिपोर्ट ब्यूरो चीफ

Leave a Reply