नवविवाहिता आत्महत्या मामला:जैन समाज ने की लव जिहाद और हत्या की धारा बढ़ाने की मांग

गुना:- नवविवाहिता की मौत के मामले में आज जैन समाज गुना के द्वारा लव जिहाद की धाराएं और हत्या की धारा में मामला दर्ज करने ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम पुलिस अधीक्षक गुना को सौंपा गया।
श्री दिगंबर जैन समाज गुना के जिला अध्यक्ष संजीव जैन ने बताया कि चार वर्ष उपरांत अब अचानक बच्ची कीर्ति जैन द्वारा जहर खाकर या खिलाकर मौत का मामला सामने आया है। इस मामले में बच्ची को इलाज के लिए चोरी छिपे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जबकि यह पूरा मामला आपराधिक होकर पुलिस के संज्ञान में जाना था। वसीम कुरैशी और उसके परिवार द्वारा बच्ची के शव को चोरी छिपे कब्रिस्तान में दफनाने के लिए भी ले जाया जा रहा था। जब पुलिस को सूचना मिली तो शव को बरामद करने के बाद उसका पोस्टमार्टम कराया गया।



श्री जैन ने बताया कि बच्ची की मौत किन हालातों में हुई? मौत के क्या कारण बने? बच्ची के परिजनों की शिकायत को गम्भीरता से क्यों नहीं लिया गया? बच्ची का नाम परिवर्तन कैसे किया गया, उसका जैन धर्म कैसे बदला गया? और मुस्लिम बनाया गया एवं बच्ची को निजी अस्पताल में क्यों भर्ती कराया गया। इन सबकी जाँच बारीकी से होनी चाहिए।
ज्ञापन में बताया गया कि वसीम कुरैशी का पूरा परिवार आपराधिक प्रवृत्ति का है। इस घटनाक्रम के बाद जैन समाज के साथ-साथ शहर वासियों में काफी आकोश है। अपनी बेटी को खोने के बाद उसकी मां भी बेसुध हैं। एवं लगातार न्याय की गुहार लगा रही है। बच्ची को आये दिन प्रताडित किया जाता था। आरोपी द्वारा बच्ची का इलाज संजीवनी अस्पताल हाट रोड पर कराया गया, जबकि ऐसे मामलों में शासकीय अस्पताल में भर्ती कर इलाज कराया जाना चाहिये था।
बच्ची को कब अस्पताल में भर्ती कराया गया उसकी जानकारी बच्ची के परिवार को नहीं दी गई। बच्ची अस्पताल में तडपती रही। 15 घण्टे तक बच्ची के बयान भी नहीं लिये गये। यह सब संदेह के घेरे में आता है।
श्री जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा लव जिहाद का कानून मध्यप्रदेश में बनाया है। वसीम के सम्पूर्ण परिवार पर जिन्होंने जहर देकर बच्ची को मारा है उन पर लव जिहाद की धारा सहित हत्या की धाराओं में मामला दर्ज किया जाना चाहिये।

Leave a Reply