पाकिस्तान रेल हादसा: बच्चे के लिए अंडा उबाल रहे थे, तभी एक के बाद फट गए दो सिलेंडर

इस्लामाबाद. पाकिस्तान में एक बड़ा और भयानक रेल हादसा हुआ है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में सुबह 31 अक्टूबर 2019 को तेगाम एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगने से 66 लोग जिंदा जल गए। 207 यात्रियों से भरी पूरी ट्रेन धू-धूकर जल उठी जिसकी वीडियो और फोटोज वायरल हो रहे हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक हादसा शॉर्ट सर्किट से हुआ और मांस के जलने की बदबू आ रही थी। आस-पड़ोस के लोग हैरान हुए तब कहीं जाकर पता चला कि ट्रेन में आग लग गई है। इससे पहले किसी ने कोई सुध नहीं ली थी। इस हादसे की पूरी परतें अब धीरे-धीरे खुलने लगी हैं…..

पाकिस्तानी मीडिया शमा टीवी से मिली जानकारी के मुताबिक बोगी नंबर 12 से जलने की बू आ रही थी। तब स्थानीय लोगों ने देखा तो रेलवे को जानकारी दी लेकिन अधिकारियों ने कोई तव्वजों नहीं दी। इस वजह से आग ने दूसरी बोगियों को भी अपनी चपेट में ले लिया। शुरुआत में हादसे की वजह शॉर्ट सर्किट को बताया जा रहा था हालांकि बाद में पता चला कि आग सिलेंडर फटने से लगी थी क्योंकि एक परिवार बच्चे के लिए ट्रेन में अंडा उबाल रहा था।

एक परिवार ने दो बोगियां बुक की थीं- हादसा सफर के दौरान इस्लामाबाद से 800 किमी. दूर रहीम यार खान जिले के लियाकतपुर में हुआ है। कराची-लाहौर जा रही तेजगाम एकप्रेस में एक परिवार ने दो बोगियां बुक की थीं। परिवार घूमने के लिए ट्रिप पर निकला था। सुबह को परिवार के लोग गैस-सिलेंडर पर अंडा उबाल रहे थे तभी हादसा हो गया। इतना ही नहीं एक के बाद दूसरा सिलेंडर भी फट गया जिसके कारण आग ने विकराल और भयानक रूप ले लिया।
दो सिलेंडर लेकर यात्रा कर रहा था परिवार- यह परिवार कपड़ों में छिपाकर सिलेंडर ले गए थे और ये एक नहीं दो सिलेडंर थे। परिवार सुबह को नाश्ता पका रहा था जिसमें वह अपने बच्चे के लिए सिलेंडर के ऊपर लगे चूल्हे पर बर्तन रख अंडा उबाल रहे थे। लापरवाही की इंतहा देखिए कि परिवार करीब 2 सिलेंडर लेकर ट्रेन में चढ़ा था और नाश्ता-खाना पकाने की पूरी तैयारी थी। हालांकि ट्रेन में पेट्रोल, गैसे सिलेंडर जैसी ज्वलनशील पदार्थ वाली चीजें लेकर यात्रा करना हादसे को न्यौता देने जैसा है। इसके बाद सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया और बोगी नंबर 12 में आग लग गई। जिसके बाद चीख-पुकार मच गई लोग जान बचाने को इधर उधर भागने लगे और कुछ लोग चलती ट्रेन में से कूद गए हैं। इस हादसे में मरने वालों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। सैकड़ों लोग बुरी तरह आग से झुलसने के कारण घायल हो गए हैं।

Leave a Reply