फरियादी से शिकायत करा कर प्राइवेट स्कूल के मालिक से पैसे एठना चाहता था उससे पहले ही हो गया बंटाढारउज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

नीमच—–मनासा- कुछ दिन पहले मनासा के एक प्रतिष्ठित अखबार के प्रतिनिधि ने एक स्कूल के पालक को कुछ इस तरह सिखाया कि वह उस स्कूल से अपने बच्चे की टीसी निकला कर कई अन्य स्कूल में भर्ती कर दे और उस प्रतिनिधि की दानकी भी हो जाए पालक के नाम से आवेदन तैयार करवाया और SDM कार्यालय मनासा में साथ रहकर दिलवाया लेकिन कुछ देर बाद पालक को समझ आया कि ये तो अपनी दलाली कर रहे है तो वह उसी स्कूल गया और प्रिंसिपल से माफी मांगी और लिख कर दिया आपने हमारे बच्चे को बहुत अच्छे से पढ़ाया है और मैं चाहता हूं आगे भी मेरा बच्चा आपके यही पढ़ाई करें मैं एक पत्रकार संजय व्यास के कहने में आ गया था मनोहर लिखित आवेदन मे बताया जोकि मुझसे बहुत बड़ी भूल हो गई थी लेकिन मुझे अब समझ आ गया है कि संजय व्यास ने मुझे खुदगर्जी के लिए कहा मुझे बहकावे में लेकर अपने दलाली करने के प्लान से मुझसे झूठी शिकायत करवाई गई थी जब संजय व्यास की असलियत पता चली कि आए दिन लोगों को लालच देकर झूठी शिकायतें करवाकर फिर लोगों से पैसे ऐंठने का काम करता है शिकायत कर्ता से शिकायत जबरन करवाई गयी ऐसा एक प्रतिष्ठित अखबार के प्रतिनिधि के द्वारा इस प्रकार छोटे बच्चे की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने वाला कृत्य करके अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए एक बच्चे के भविष्य की बलि चढ़ाने वाला संविधान के चौथे स्तंभ को बदनाम करने वाले के खिलाफ स्कूल डायरेक्टर ने भी इस कृत्य की घोर निंदा की और संजय व्यास के खिलाफ मानहानि का दवा लगाने की बात कही देखना यह है कि ऐसे लोगों के खिलाफ शासन प्रशासन कब एक्शन लेगा आखिर कब तक ऐसा चलता रहेगा

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply