लापरवाही / अस्पताल में अव्यवस्था देख मंत्री ने अधिकारियों को लगाई थी फटकार, लेकिन नहीं हुआ सुधार

  • अस्पताल का स्टाफ बढ़ाने की बजाय कम कर दिया गया
  • ड्रैनेज लाइन में लीकेज, गंदा पानी बह रहा है बाहर

DG News

Nov 01, 2019, 02:20 PM IST

इंदौर. पिछले दिनों मल्हारगंज पॉलीक्लीनिक (लाल अस्पताल) में नवजात की मौत के मामले में लापरवाही सामने आई थी। इसके बाद मप्र के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने अस्पताल का दौरा किया था। अस्पताल में भारी लारवाहीं दिखाई देने पर मंत्री ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए उसे सुधारने के निर्देश दिए थे। लेकिन तीन माह गुजरने के बाद अस्पताल की व्यवस्था सुधरने के बजाय और अधिक खराब हो गई है।

फिलहाल स्थिति यह है कि ड्रैनेज लाइन के लीकेज के कारण गंदा पानी अस्पताल परिसर में ही बह रहा है। डॉक्टर्स की नाईट ड्यूटी दूसरे अस्पतालों में लगाई जा रही है। नर्सिंग स्टाफ कम कर दिया गया है।
अस्पताल में तीन महिला डॉक्टर, नाक-कान-गला विशेषज्ञ और दंत रोग विशेषज्ञ है। इनमें से दो महिला डॉक्टर की नाईट ड्यूटी लगाई जाती है। यहां पदस्थ चार नर्सों को शहर के अन्य अस्प्ताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। यानी स्टॉफ बढ़ने की बजाय कम कर दिया गया है।

गंदगी देख कर कहा था- यहां खड़े रहकर बताओ
अस्पताल के सुविधाघर के पास अभी भी कबाड़ रखा मिल जाएगा। मंत्री ने जब मुआयना किया था तब यहां गंदा पानी बह रहा था और बदबू आ रही थी। उन्होंने अधिकारियों से कहा था कि आप यहां खड़े रहकर बताओ…इसे साफ क्यों नहीं करवाते, इसी से तो बीमारियां होती है। मंत्री ने मौके से ही निगमायुक्त को फोन लगाया था। निगमायुक्त ने जल्द सफाई करवाने की बात कही थी लेकिन मौके पर गंदगी अब भी बरकरार है।

Leave a Reply