विधानसभा परिसर में बनेगी पंडित कुंजीलाल दुबे संसदीय विद्यापीठ : विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति विद्यार्थी विदेश जायेंगे, अन्य देशों की संसदीय प्रणाली के अध्ययन के लिये : मंत्री श्री शर्मा

योगिता अहिरवार

विधानसभा अध्यक्ष श्री एन.पी. प्रजापति ने कहा कि पंडित कुंजीलाल दुबे संसदीय विद्यापीठ भवन के लिये विधानसभा परिसर में स्थान देने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही इस संबंध में निर्णय करेंगे। जनसंपर्क, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी शर्मा ने कहा कि संसदीय विद्यापीठ के माध्यम से संसदीय प्रणाली की विभिन्न प्रतियोगिताओं में चयनित उत्कृष्ट विद्यार्थियों को अन्य देशों में भी संसदीय प्रणाली की कार्यवाही देखने समझने का अवसर दिलाने के लिये विदेश टूर पर भेजा जायेगा। आज विधानसभा के मानसरोवर सभागार में संसदीय विद्यापीठ द्वारा संसदीय प्रणाली पर निबंध और वाद-विवाद और युवा संसद प्रतियोगिता के विजेता छात्र-छात्राओं और शैक्षणिक संस्थाओं के पुरस्कार वितरण समारोह में विधानसभा  अध्यक्ष श्री प्रजापति और जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा ने उक्त बात कही।

 विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने कहा कि  विद्यार्थी जीवन में संसदीय प्रणाली की जानकारी से बेहतर नागरिक और चुने हुये जन प्रतिनिधि जिनको पहले से ही संसदीय प्रणाली की अच्छी जानकारी होगी, वे बेहतर संसदीय सदस्य बनेंगे। यह भारतीय लोकतंत्र के लिये बहुत अच्छी बात है। संसदीय विद्यापीठ द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं से संसदीय प्रणाली की जानकारी विद्यार्थियों को दी जाती है।

 जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि  विद्यार्थियों को अपने देश के लोकसभा और राज्यसभा के सदनों की कार्यवाही से परिचित कराने के साथ ही दूसरे देशों की संसदीय प्रणाली को देखने समझने के लिये विदेश दौरो पर भी संसदीय विद्यापीठ के माध्यम से विद्यार्थियों का दल विदेश भेजा जायेगा।

 कार्यक्रम में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता संचार विवि के कुलपति श्री दीपक तिवारी ने भारतीय संसदीय प्रणाली के महात्व के संबंध में अनेक उदाहरण देते हुये कहा कि भारतीय संसदीय प्रणाली नागरिक को हर प्रकार के अधिकार देती है।

 कार्यक्रम में प्रमुख सचिव विधानसभा श्री ए.पी. सिंह, संचालक पंडित कुंजीलाल दुबे संचालक श्रीमति प्रतिमा दुबे और अन्य अतिथि छात्र-छात्रायें और शैक्षणिक संस्थाओं के शिक्षक मौजूद थे।

About Yogita Ahirwar Bhopal

View all posts by Yogita Ahirwar Bhopal →

Leave a Reply