सनातन धर्म की रक्षा के लिए 110 किलोमीटर की यात्रा

सनातन धर्म की रक्षा और महामारी से संसार को मुक्ति दिलाने के लिए कुछ ऐसे भी संत हैं जो साडे 300 किलोमीटर पैदल यात्रा कर और दंडवत हाथ में श्रीफल देकर दंडवत प्रणाम करते हुए यह यह साधु संत बाबा महाकाल के दर्शन कर यात्रा समाप्त करेंगे सीहोर जिले के एक गांव से यह यात्रा आरंभ की और उज्जैन महाकाल दर्शन कर यात्रा समाप्त करेंगे बाबा ने बताया कि 2 फरव,री को यह यात्रा आरंभ की थी. लगभग 110 दिन के करीब इनको इसी प्रकार यात्रा करते हुए हुए हैं और उन्हें विश्वास है कि मेरी यात्रा पूर्ण होने पर बाबा महाकाल इस कोरोना महामारी से देश को मुक्ति दिलाएंगे

Leave a Reply