सीए रिजल्ट 5 टॉपर्स ने बताईं वे 5 गलतियां, जो सीए फाइनल एग्जाम को क्रैक करने से रोकती हैं

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने नवंबर 2019 में आयोजित सीए फाइनल परीक्षा के परिणाम 16 जनवरी…

Bhopal News - mp news ca result 5 toppers explained 5 mistakes that prevent cracked ca final exam

Jan 22, 2020, इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने नवंबर 2019 में आयोजित सीए फाइनल परीक्षा के परिणाम 16 जनवरी को जारी कर दिए हैं। इसमें ओल्ड स्कीम के तहत परीक्षा में शामिल कैंडिडेट्स का ओवरआॅल (दोनों ग्रुप्स का संयुक्त रूप से) पास पर्सेंटेज 10.19 प्रतिशत रहा जबकि न्यू स्कीम के तहत परीक्षा में शामिल हुए कैंडिडेट्स का ओवरआॅल पास पर्सेंटेज 15.12 प्रतिशत है। पिछले साल के सीए फाइनल एग्जाम के परिणामों पर नजर डालें तो साल 2018 (नवंबर) के नए सिलेबस से परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स का पास पर्सेंटेज 16.44 प्रतिशत था वहीं ओल्ड सिलेबस वाले छात्रों का पास पर्सेंटेज मात्र 15.03 प्रतिशत रहा। यानी पहले से ही कम आने वाले इस परीक्षा परिणाम में और गिरावट आई है। स्पष्ट हैं कि देश की प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक इस परीक्षा का पास पर्सेंटेज लगातार कम बना हुआ है। कमोबेश ऐसे ही आंकड़े इससे पहले के सालों में भी पाए गए हैं जहां परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले स्टूडेंट्स की तुलना में पास होने वाले छात्रों का प्रतिशत काफी कम है। इस परीक्षा के पिछले पंाच सालों के परिणाम का विश्लेषण बताता है कि सिविल सर्विसेज की तरह ही देश की यह प्रतिष्ठित परीक्षा भी अपने लिए योग्य उम्मीदवारों को चुनने में खासी सावधानी बरतती है। जहां भरपूर मेहनत के बावजूद कुछ छोटी-छोटी गलतियां बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स को एग्जाम क्रैक करने से रोक देती हैं। इस सिलसिले में परीक्षा के टॉपर्स का भी अनुभव है कि वाकई कुछ सामान्य गलतियां भी मार्जिन से परीक्षा को पार करने की राह में रोड़ा बन जाती हैं। पिछले सालों के परीक्षा परिणामों में टॉप थ्री पोजिशन पर रहे पांच टॉपर्स यहां बता रहे हैं उन गलतियों के बारे में जो इस परिणाम के स्तर को बढ़ने से रोकती हैं-

, ,

Leave a Reply