पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन ने प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के घटनाक्रम को निंदनीय बताया और कहा गांधीजी के विचार कभी नहीं मर सकते। वे हमारे दिलों में जिंदा हैं।

मंदसौर जिले के ग्राम गुर्जरबर्डिया के शासकीय स्कूल परिसर में स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा को असामाजिक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर डाला। घटनाक्रम के विरोध में शनिवार शाम को कांग्रेस संगठन ने यहां सर्वधर्म प्रार्थना आयोजन किया और घटनाक्रम को अंजाम देने वालों के लिए सद्बुद्धि मांगी गई। कार्यक्रम शाम 5.30 से 7.30 बजे तक हुआ। इस दौरान मंदसौर-नीमच जिले से कांग्रेसजन व ग्रामीणजन शामिल हुए। 

  पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन ने प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने के घटनाक्रम को निंदनीय बताया और कहा गांधीजी के विचार कभी नहीं मर सकते। वे हमारे दिलों में जिंदा हैं। नटराजन ने कहा गांधी जी की लड़ाई सिर्फ अंग्रेजों से नहीं बल्कि इंसान के अंदर के डर व भय से थी तथा दूसरी लड़ाई आजादी के बाद के भारत की संरचना कैसी हो उसके लिए थी,उन्होंने छुआछूत के उन्मूलन के लिए कार्य किया एवं आम आदमी की सरकार बने, था सर्वधर्म समभाव के लिए कार्य हो यही उनका ध्येय रहा । उन्होंने कहा कि गांधी जी का पूरा जीवन अनुशासित था । गांधी जी के ऊपर उनके जीवनकाल में कट्टरपंथी ताकतों ने छः बार हमले हुए पर उन्होंने जीवटता के साथ अपने कर्तव्य का पालन किया । पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा ने कहा जिस विचारधारा ने गांधीजी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया, ईश्वर से प्रार्थना है कि उन्हें सद्बुद्धि प्रदान करे। उन्होंने घटनाक्रम को दुखद बताया। कांग्रेस जिलाध्यक्ष नवकृष्ण पाटिल ने कहा गांधी जी के विचारों को अपने जीवन में उतार कर आगे बढने का संकल्प सभी को लेना चाहिए। नीमच जिलाध्यक्ष अजीत कांठेड समेत मंदसौर-नीमच से विधानसभा प्रत्याशी रहे व नपा के दावेदार समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसजन सर्वधर्म प्रार्थना में मौजूद रहे। 

Leave a Reply