केरी हत्याकांड का हुआ खुलासा, नाती ही निकला कातिल, प्रेम विवाह के चक्कर में उठाया था बड़ा कदम,

नीमच। जिला पुलिस अधीक्षक श्री सुरज कुमार वर्मा के दिशा निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.एस. कनेश तथा नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ल के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी जीरन राजेश सिंह चौहान के नेतृत्व में थाना जीरन की पुलिस टीम ने बीते दिनों मिली एक बुजुर्ग महिला की पैर कटी लाश के मामले में पर्दा उठाने में सफलता हासिल कर ली।
गौरतलब है कि दिनांक 05.04.2021 को सूचनाकर्ता भारतसिंह पिता स्व. रामसिंह सोन्धिया निवासी केरी द्वारा थाना जीरन पर अपनी माँ गंगाबाई के करीब एक माह से लापता होने की सुचना देने पर गुम इंसान दर्ज किया गया है। पुलिस द्वारा लापता गंगाबाई की तलाश में ग्राम केरी उसके निवास पर लगे तांले को तोङकर चेक किया गया तो गंगाबाई का शव अत्धिक सड़ी हुई अवस्था में बरामद हुआ।गंगाबाई के दोनों पैर के पंजे कटे हुए थे। जांच में यह भी ज्ञात हुआ कि गंगाबाई चांदी के वजनदार कड़े पहनती थी। जो मौकाएं वारदात पर नहीं मिले। पुलिस की प्रथम दृष्टिया जांच में मामला हत्या सहित लुट का पाया जाने से धारा 302, 397, 201 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। घटना अत्यधिक गम्भीर होने से पुलिस वरिष्ट अधिकारियों द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण कर थाना प्रभारी जीरन राजेश सिंह चौहान के नेत्रत्व में विशेष टीम का गठन कर आवश्यक दिशा निर्देश मामले की विवेचना हेतु दिये। जिस पर पुलिस द्वारा सूचना तंत्र को सक्रिय कर घटना के सभी पहलुओं पर गम्भीरता पूर्वक अनुसंधान करते हुए घटना में संदिग्ध मृतिका के नाती उमरावसिंह उर्फ राहुल पिता मनोहरंसह जाति-सोंधिया राजपूत उम्र-22 साल निवासी-दोरवाड़ा थाना-नारायणगढ़ जिला-मंदसौर हाल मुकाम-मण्डपिया रेल्वे स्टेशन जिला-भीलवाडा राजस्थान को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।जिसके द्वारा बताया गया की प्रेम विवाह के लिये उसे पैसों की आवश्यकता थी। जिस कारण उसके द्वारा अपने नानी की हत्या की योजना बनाई व योजनाबद्ध तरीके से करीब डेढ़ माह पूर्व अपनी नानी के घर पहुंचा तथा रात में खाना खाने के बाद पत्थर तथा मोगरी से सिर पर वार कर हत्या कर दी। मृतिका के पैरों को हसिये से काटकर कड़े निकाल लिये तथा घटना के पश्चात घर के बाहर ताला लगाकर फरार हो गया। चांदी के कड़ों का वजन लगभग 800 ग्राम कीमत 50 हजार रुपये मूल्य के थे। पुलिस द्वारा आरोपी राहुल उर्फ उमरावसिंह सौन्धिया को मण्डपिया जिला भीलवाड़ा राजस्थान से गिरफ्तार कर हत्या में उपयोग किये गये हथियार जप्त किये गये। प्रकरण मेें आरोपी से चांदी के कड़े बरामदगी की कार्यवाही की जा रही है। तथा अन्य समस्त पहलुओं पर विवेचना की जा रही है।
उक्त कार्यवाही की कमान जहां जीरन थाना प्रभारी निरीक्षक राजेश सिंह चौहान द्वारा संभाली गई। वहीं उनके साथ सउनि. जे. एच. मंसुरी, सउनि. विरेन्द्र सिंह बिसेन, प्रआर. प्रदीप शर्मा, प्रआर. प्रकाश सिनम, प्रआर. लीना राव, आर. श्रीपालसिंह, आर. अमानत अली, आर. विवेक धनगर द्वारा भी मुख्य भूमिका निभाई।

Leave a Reply