जिला चिकित्सालय के डॉक्टर के बयान ने सिद्ध कर दिया,जिला चिकित्सालय सिर्फ रेफर अस्पताल

  • कांग्रेस नेता तरूण बाहेती ने कहा हमारे आरोप सिद्ध हुए,विधायक के दावे झूठे साबित

नीमच। जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्सक आरएमओ डॉ. सम्यक गांधी ने मीडिया को बयान दिया कि जिला चिकित्सालय में पिछले 2 वर्षों से ऑपरेशन के सामान्य उपकरण तक उपलब्ध नही है। इस कारण छोटी-मोटी दुर्घटनाओं में भी हर माह 100 से अधिक घायलों को सीधे रेफर करना पड़ता है। ऐसे में जिला डॉक्टर सम्यक गांधी के बयान से सिद्ध हो गया है कि जिला चिकित्सालय में स्वास्थ्य सुविधाओं होने और व्यवस्था बढाने के निर्वाचित विधायक के दावे एक बार खोखले साबित हो गए हैं।

कांग्रेस नेता तरूण बाहेती ने जिला चिकित्सालय के उक्त घटनाक्रम पर विधायक दिलीप सिंह परिहार एवं अन्य चुने हुए जनप्रतिनिधियों की लचर कार्यशैली को उठाते हुए कहा कि पिछले कई वर्षों से हम जिला चिकित्सालय संघर्ष समिति के बेनर तले नीमच जिला चिकित्सालय की खामियों को आमजनता के समक्ष रख रहे थे। बावजूद इसके जनप्रतिनिधियों ने कभी गंभीरता नहीं दिखाई। लेकिन डॉक्टर गांधी के बयान से दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। जिला चिकित्सालय में एक और जहां चिकित्सकों को भारी अभाव है, वही सामान्य ऑपरेशन करने की पिछले दो वर्षों से उपकरण तक नहीं है,वहीं दूसरी और करोड़ों रूपए खर्च बनाए गए ट्रामा सेंटर में भी संसाधनों का अभाव बना हुआ है,जबकि विधायक दिलीप सिंह परिहार ने हमेशा संघर्ष समिति के आरोपों को नकार है और दावे किए हैं कि जिला चिकित्सालय में पर्याप्त संसाधन है,लेकिन विडंबना है कि जनता से साथ साथ अब जिला चिकित्सालय के डॉक्टर भी मुखर होने लगे हैं।

बाहेती ने कहा कि जिला चिकित्सालय में ऑपरेशन के कोई भी उपकरण नहीं होने से छोटी मोटी दुर्घटनाओं में घायलों को भी नीमच से रेफर करने को चिकित्सक मजबूर है। इसका खुलासा खुद जिला चिकित्सालय में पदस्थ आरएमओ डॉ.सम्यक गांधी ने मीडिया को दिए बयान में किया है और उन्होंने तो यहां तक कहा कि ट्रामा सेंटर में मेजर आपरेशन तो दूर छोटे मोटे आपरेशन करने की भी सुविधा और संसाधन नहीं है, जिसके बारे में वे लिखित में सिविल सर्जन,सीएमएचओ,विधायक,जनप्रतिनिधि और जिला प्रशासन को कई बार अवगत करा चुके हैं, इसके अलावा शासन को भी पत्र लिखे गए हैं,पर पिछले डेढ वर्ष से किए जा रहे सुविधा बढाने के प्रयास अब तक सार्थक नहीं हुए हैं। श्री बाहेती ने कहा कि यह बात जब विधायक दिलीपसिंह परिहार तक पहुंची तो उन्होंने आरएमओ डॉ. गांधी के बयान को सिरे खारिज कर दिया और कहा कि जिला चिकित्सालय में सभी सुविधाएं और संसाधन उपलब्ध है और अगर कोई कमी है तो वह रोगी कल्याण समिति की बैठक में उपस्थित होकर यह बात रखे। श्री बाहेती ने बताया कि मामला उल्टा पड़ता देख विधायक ने मीडिया के सामने अपनी बात को संभालते हुए यह भी कहा कि प्रभारी मंत्री के नीमच दौरे के दौरान वह इस समस्या को उठाएंगे और जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में संसाधनों की व्यवस्था करने गौण खनिज की राशि दिलाने का प्रयास करेंगे। कांग्रेस नेता तरुण बाहेती ने विधायक दिलीप सिंह परिहार के मीडिया को दिए बयान की आलोचना करते हुए कहा कि विधायक परिहार ने कहा है अब तक उन्होंने पिछले 15 वर्षों में क्या किया, विधायक का कहना है कि कई उपकरण जिला अस्पताल में धूल खा रहे है जबकि डॉक्टर कह रहे है उपकरण ही नही है तो ऐसे में विधायक परिहार हमेशा रोगी कल्याण समिति की बैठकों में चिकित्सा व्यवस्था की कौनसी समीक्षा करते है,जनता की इस भयानक पीड़ा का विधायक ने क्या ध्यान रखा इसका जवाब उन्हें जनता को देना चाहिए।

कांग्रेस नेता तरूण बाहेती ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों से वे जिला चिकित्सालय संघर्ष समिति के माध्यम से जिला चिकित्सालय की अव्यवस्थाओं के मुद्दे को उठाते रहे हैं लेकिन चुने हुए जनप्रतिनिधियों ने कभी इसको नही माना ओर हमेशा झूठे दावे किये लेकिन अव्यवस्थाओं का प्रत्यक्ष उदाहरण हम कोरोना की दूसरी लहर में देख चुके हैं। कई लोगों को उचित उपचार और सुविधाओं के अभाव में अपने प्राण गवाने पड़े थे। अब जिला चिकित्सालय संघर्ष समिति के मुद्दों और आरोपों पर आरएमओ डॉ. गांधी ने भी मुहर लगा दी है।

कांग्रेस नेता तरुण बाहेती ने कहा कि जिला चिकित्सालय की संसाधन नही होने से लगातार मरीजों को रेफर किया जा रहा है। अगर सुविधाएं होती तो तय समय पर इलाज मिल जाता और कई जानें बच सकती थी। जिला चिकित्सालय में संसाधन नहीं होने की जवाबदारी भी यहां के चुने हुए जनप्रतिनिधियों की है और और संसाधन के अभाव में हुई मौतों को जिम्मेदारी भी इन्ही चुने हुए नेताओं की है। नीमच के जनप्रतिनिधि दागदार हो चुके हैं और जनता के सामने सिर्फ वाहवाही लेने का नाटक करते हैं। जिला चिकित्सालय की अव्यवस्थाओं पर नीमच के जनप्रतिनिधियों का कोई ध्यान नहीं देना यह सिद्ध करता है कि उन्हें जनता की सुविधाओं से कोई मतलब नहीं है।

Leave a Reply