कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद के सामने भिड़े BJP नेता, बैठक में जमकर चले लात-घूंसे – देखे विडीओ

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) में कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद (Jitin Prasada) के सामने ही बीजेपी नेता भिड़ गए. दरअसल योगी सरकार में लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद मुरादाबाद मंडल की समीक्षा बैठक के लिए सर्किट हाउस पहुंचे थे. इसी बीच मुरादाबाद शहर के बीजेपी विधायक रितेश गुप्ता (MLA Ritesh Gupta) और बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चे के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य मनमोहन सैनी (Manmohan Saini) के बीच विकास कार्यों को लेकर जोरदार गहमा-गहमी हो गई. विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों नेता एक दूसरे पर हमला करने के लिए खड़े हो गए. ये पूरा हंगामा मंत्री जी के सामने ही होता रहा. सैनी का आरोप है कि झगड़े के बाद कुछ अज्ञात लोगों ने सर्किट हाउस के दूसरे कमरे में उन पर हमला किया और जान लेने की कोशिश की.

जितिन प्रसाद के सामने भिड़े बीजेपी नेता:-खबर के मुताबिक जितिन प्रसाद गुरुवार को मुरादाबाद के सर्किट हाउस पहुंचे जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं से मिलकर स्थिति का जायजा लेने के लिए जनप्रितिनिधियों और कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया था. इस बीच सर्किट हाउस में मनमोहन सैनी और विधायक रितेश गुप्ता के बीच तनातनी हो गई. दोनों तरफ से तकरार के बाद विवाद इतना बढ़ गया कि वो एक दूसरे को मारने के लिए कुर्सी छोड़कर आगे बढ़ने लगे, इसी बीच बीजेपी के दूसरे कार्यकर्ताओं ने उन्हें पकड़ लिया और काफी समझआने की कोशिश की. खुद जितिन प्रसाद को इस विवाद में बोलना पड़ा और उन्होंने दोनों पक्षों को शांत करवाया.

रितेश गुप्ता और मनमोहन सैनी में तकरार:-हुआ ये कि इस बैठक में जितिन प्रसाद से सभी का परिचय होने के बाद बीजेपी पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मनमोहन सैनी ने लाइनपार क्षेत्र के कुछ मोहल्लों को नाम लेते हुए इन क्षेत्रों में विकास कराने की बात की. तभी विधायक रितेश गुप्ता ने उन्हें टोक दिया और कहा कि आपकी बात हो गई अब आप बैठ जाइए. बस इसी पर दोनों तरफ से तकरार होने लगी. बात बढ़ी तो रितेश गुप्ता सीट छोड़कर मनमोहन सैनी की तरफ लपके. इस बीच मंच के आसपास मौजूद कार्यकर्ताओं ने उन्हें पकड़ लिया. वहीं मनमोहन सैनी ने भी कुर्सी छोड़ दी वो शांत होने को तैयार नहीं थे. मामला बढ़ता देख जितिन प्रसाद ने हस्तक्षेप किया और दोनों को शांत कराया.

मनमोहन सैनी ने लगाया गंभीर आरोप:-इस पूरे बवाल के दौरान महापौर विनोद अग्रवाल, एमएलसी जयपाल सिंह व्यस्त, भाजपा महानगर अध्यक्ष समेत तमाम पदाधिकारी मौजूद थे. वहीं दूसरी तरफ मनमोहन सैनी का आरोप है कि इस विवाद के बाद कुछ अज्ञात लोगों ने सर्किट हाउस के दूसरे कमरे में उन पर हमला कर दिया और लात-घूंसों से उन्हें मारा-पीटा गया और जान लेने की कोशिश की गई. उन्होंने कहा कि वो अपने साथ हुई इस घटना की शिकायत थाने में करेंगे.

,

Leave a Reply