सिटी डिस्पेंसरी भवन हुआ जर्जर, गिरने लगा मलबा

DG NEWS RAJGARH

राजगढ़ से कल्पना कीर की रिपोर्ट

राजगढ़ नरसिंहगढ़ । नगरपालिका के समीप संचालित हो रहे सिटी डिस्पेंसरी भवन की हालत अत्यंत दयनीय हो चुकी है। वर्षो पुराना हो चुके डिस्पेंसरी भवन की दीवारे जीर्ण-शीर्ण अवस्था में पहुंच चुकी है। इसमें बारिश में छतों से पानी टपकता है। वहीं अन्य दिनों में मलबा गिरता नजर आ रहा है, जिसकी वजह से अब भवन का नए सिरे से जीर्णोद्वार की जरूरत महसूस की जा रही है। ऐसे में जर्जर भवन में कभी कोई गंभीर हादसा भी घटित हो सकता है। खास बात यह है कि पूर्व में इस भवन में नेहरू वाचनालय संचालित किया जाता था। बाद में पुरानी नगरपालिका से डिस्पेंसरी को यहां संचालित किया जाने लगा। स्थानीय अस्पताल प्रबंधन भी सिटी डिस्पेंसरी की मरम्मत के लिए कई बार स्वास्थ्य विभाग सहित प्रषासनिक अधिकारियों को पत्र लिख चुका है। मगर आजतक डिस्पेंसरी के नवनिर्माण तो दूर उसके औपचारिक सुधारों पर भी कोई ध्यान नहीं दिया गया। सिटी डिस्पेंसरी में प्रतिदिन दर्जनों लोग इलाज के लिए पहुंचते है। ऐसे में लोगो की सुरक्षा और सुविधाओं को देखते हुए भी डिस्पेंसरी भवन का जीर्णोद्वार आवश्यक है

पुरातत्व संग्रहालय की स्थिति दयनीय –

इसी डिस्पेंसरी के एक हिस्से में नपा द्वारा पुरातत्व संग्रहालय भी बनाया गया है। इस संग्रहालय में पुरातात्विक धरोहरे संरक्षति कर रखी गई थी। मगर वर्तमान में संग्रहालय की छत की दीवार टूट चुकी है। वहीं संग्रहालय के गेट पर लगे जालों की वजह से संग्रहालय में देख पाना भी मुश्किल हो रहा है। वर्तमान में षहर में स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए सफाई अभियान चलाया जा रहा है। ऐसे में संग्रहालय के जीर्णोद्वार की दिशा में भी प्रशासन को शीघ्र कार्रवाई करना चाहिए

About सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS

View all posts by सुरेश मालवीय इछावर DG NEWS →

Leave a Reply