कर्मचारियों ने कहा नामांकन से ही ऐबू यूनियन हुई न.1, भेल की अन्य यूनियन में मची खलबली…

आगामी 23 जून को होने वाले भेल के प्रतिनिधि यूनियन चुनाव के लिये भेल की यूनियनों में नामांकन के बाद प्रचार प्रसार जोरो पर चालू है कल के नामांकन के पश्चात ऐबू यूनियन का शक्ति प्रदर्शन देख सभी यूनियन चिंता में डूबी हुई है इसकी बानगी आज कारखाने में देखने को मिली अधिकतर यूनियनें चुनाव प्रचार से गायब रही या थोड़े समय ही दिखी ऐसा लगा जैसे चुनाव से पहले ही हार मान ली हो वही ऐबू यूनियन ने आज अपनी रणनीति ही बदल दी यूनियन के द्वारा प्रमुख चेहरों को सामने कर 4 अलग अलग टीम बनाकर पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने प्रचार किया
1 टीम जहाँ महासचिव रामनारायन गिरी के नेतृत्व में बनी,वही दूसरी टीम केंद्रीय अध्यक्ष अख्तर खान एवं कोषाध्यक्ष संजीब नंदा के नेतृत्व में, तीसरी टीम की अगवानी अध्यक्ष सत्येंद्र कुमार ने करी तो वहीं चौथी टीम का नेतृत्व यूनियन के मुख्य चेहरे सचिव एवं मीडिया प्रभारी आशीष सोनी , टाउन एडवाइजरी सदस्य राजमल बैरागी और सेफ्टी कमेटी सदस्य विशाल वाणी ने किया ऐबू यूनियन की चारो टीमों द्वारा सघन जनसंपर्क किया गया एवं सभी कर्मचारियों से अपील की गई कि वर्दीधारी को ही वोट करे एवं रिटायर्ड, ठेकेदार एवं बाहरी नेताओ को भोपाल भेल से ,जे.सी.एम. एवं सब कमेटी से बाहर करने की ओर एवं वर्दीधारी को उनकी जगह बैठाने की ओर अपना कदम बढ़ाए
हर टीम के द्वारा पूरे कारखाने में 1 ही बात कही गयी कि कर्मचारियों को पिछली बार की तरह अलग अलग बटना नही है सिर्फ और सिर्फ ऐबू यूनियन जिसमे सभी पदाधिकारी वर्दीधारी है उसी को 80 % मत के साथ विजयी बनाना है l
आशीष सोनी के द्वारा बताया गया कि कर्मचारियों के अपार समर्थन को देख कर अन्य यूनियन के द्वारा सिर्फ और सिर्फ ऐबू एवं रामनारायन गिरी के बारे में भ्रामक प्रचार किया जा रहा है और झूठे आरोप प्रत्यारोप लगाए जा रहे है जिनमे कोई सच्चाई नही है और मैं कर्मचारियों से भी निवेदन करता हूं की ऐसे लोगो से साक्ष्य जरूर मांगेl

Neelesh Soni

Leave a Reply