महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोकना हम सभी का नैतिक दायित्व है- एसपी श्रीमती शुक्ला

गोविन्द दुबे. 9893802968

रायसेन/जिले में
सम्मान अभियान के तहत जिले में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं को किया गया सम्मानित

कलेक्ट्रेट कार्यालय परिसर में एसपी श्रीमती मोनिका शुक्ला के मुख्य आतिथ्य में महिला सम्मान समारोह आयोजित किया गया। जिसमे जिले में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक श्रीमती मोनिका शुक्ला ने कहा कि महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों की रोकथाम एवं महिला सुरक्षा को समाज के केन्द्र बिन्दु में लाने के लिए प्रदेश के साथ ही रायसेन जिले में भी जन जागरूकता अभियान ‘‘सम्मान‘‘ प्रारंभ हो रहा है।

पुलिस अधीक्षक श्रीमती शुक्ला ने कहा कि कार्यस्थल पर महिला पुरूष का भेदभाव नहीं होना चाहिए और यह सभी का दायित्व हैं कि महिलाओं को कार्यस्थल पर बेहतर परिवेश उपलब्ध कराएं। कई बार महिलाओं को परिवार की दोहरी जिम्मेदारी निभानी पड़ती हैं। उन्होंने कहा कि महिला अपराध को रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन अपना दायित्व निभा रहे हैं, इसमें सभी नागरिकों का सहयोग भी जरूरी है। उन्होंने समाज के सभी अंगो से अनुरोध किया कि किसी भी जगह महिला पर अत्याचार देखे चाहे पर शारीरिक हो, मानसिक हो या आर्थिक हो, हमारा कर्तव्य है कि हम उस अत्याचार को रोकें।

अपर कलेक्टर श्री अनिल डामोर ने कहा कि महिलाएं भी पुरूषों से कम नहीं हैं। प्रशासन में सक्रिय भागीदारी से महिलाओं ने अपनी एक अलग पहचान बनाई हैं। कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा ने कहा कि महिला अपराध के उन्मूलन में समाज की सक्रिय भागीदारी जरूरी है और महिलाओं, बालिकाओं के लिए समाज में सम्मानजनक तथा अनुकूल वातावरण तैयार करना है। साथ ही महिला अपराधों के प्रति लोगों को भी जागरूक करना है ताकि महिला सुरक्षा को लेकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर सकें। जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा ने महिलाओं के सम्मान में प्रेरक कविताओं का वाचन भी किया। इसके साथ ही एसडीएम श्री एलके खरे, सीएमएचओ डॉ दिनेश खत्री सहित अनेक अधिकारियों ने संबोधित किया। इस अवसर पर एसडीएम श्रीमती प्रियंका मिमरोट सहित अनेक महिला अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा अपने विचार एवं अनुभव व्यक्त किए गए। कार्यक्रम में महिलाओं को गुलाब के पौधे तथा डायरी भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की सहायक संचालक श्रीमती संगीता जायसवाल, एसडीएम सुश्री संघमित्रा, शासकीय महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ इशरत खान सहित अनेक अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply