महिला सशक्तिकरण के लिए विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न

गोविन्द दुबे 9893802968

रायसेन/जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायसेन के निर्देशानुसार वन स्टॉप सेंटर रायसेन में 12 जनवरी को युवा दिवस के उपलक्ष्य में साक्षरता शिविर आयोजित किया गया। शिविर में महिलाओं को उनके विधिक अधिकारों एवं कर्तव्यों के बारे में जागरूक किया गया।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती नीलम मिश्रा द्वारा महिलाओं के सर्वांगीण विकास हेतु संविधान में प्रदत्त आर्थिक, सामाजिक और कानूनी अधिकारों के बारे में विस्तार में बताते हुए कहा कि आज के समय में महिलाओं के अपने अधिकारों के बारे में सजग होने की जरूरत है। संविधान द्वारा उन्हें इतने अधिकार दिये गये है कि महिलायें इस समाज में गरिमापूर्ण जीवन जीतते हुए सम्मानपूर्वक अपना जीवन जी सकते है।
साक्षरता शिविर में मौलिक अधिकार के साथ ही महिलाओं का कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से संरक्षण के महत्वपूर्ण विधिक उपबंधों के संबंध में जानकारी दी गई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा महिलाओं को हर संभव सहायता प्रदान करने हेतु कृत संकल्पित है। साथ ही महिलाओं को निःषुल्क विधिक सहायता अधिकार की जानकारी देते हुए बताया गया कि महिला अपने पारिवारिक या वैवाहिक प्रकरणों को न्यायालय में संस्थित करने से पूर्व प्राधिकरण के माध्यम से मध्यस्थता अथवा लोक अदालत के जरिये आपसी राजीनामा से निपटा सकती है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा महिलाओं को घरेलू हिंसा के प्रकरणों में परिवाद दायर करने हेतु निःषुल्क विधिक सहायता के माध्यम से राज्य के व्यय पर अधिवक्ता की सहायता मुहैया कराई जाती है।

Leave a Reply