Bird Flu: एक्शन मोड में गोरखपुर प्रशासन, खौफ के बाद चिकन के दामों में आई भारी गिरावट

गोरखपुर. कई राज्यों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) को देखते हुए सख्ती बरती जा रही है. ऐसे में गोरखपुर (Gorakhpur) में भी जिला प्रशासन एक्शन मोड में है. बर्ड फ्लू के संक्रमण को देखते हुए गोरखपुर के डीएम के विजयेन्द्र पाण्डियन का कहना है कि अभी प्रदेश में या फिर पूर्वांचल में बर्ड फ्लू का कोई भी केस सामने नहीं आया है फिर भी सतर्कता बरती जा रही है. शासन के निर्देश पर एक कमेटी गठित की गयी है. जो इस मामले पर नजर रखे हुए है. साथ ही पशु चिकित्साधिकारी को डॉक्टरों की एक टीम गठित कर पोल्ट्री फार्म पर नजर रखने को निर्देश दिये गये हैं. बर्ड फ्लू को लेकर उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है.
पशु चिकिस्ताधिकारी ने 50 डॉक्टरों की टीम गठित की है. प्रत्येक चिकित्सक अपने अपने क्षेत्र के पोल्ट्री फार्म का निरीक्षण कर रहे हैं और प्रतिदिन उसकी रिपोर्ट पशु चिकित्साधिकारी को दे रहे हैं. वहीं वन विभाग को प्रवासी पक्षियों पर नजर रखने के लिए निर्देशित किया गया है. क्योंकि गोरखपुर और आसपास के जिलों में बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षियां दूसरे राज्यों और देशों से आती हैं. बर्ड फ्लू से निपटन के लिए भले ही प्रशासन ने तैयारियां कर रखीं हो पर चिकन के दाम में गिरावट देखी जा रही है.


UP में नई आबकारी नीति लागू, शराब की दुकानों की लाइसेंस फीस में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी
धर्मशाला पुल से पास चिकन की दुकान लगाने वाले अबरार का कहना है कि अभी कुछ दिन पहले ही 190 से 200 रुपये किलो चिकन बिक रहा था पर अब 150 से 160 रुपये किलो बिक रहा है. वहीं जिंदा मुर्गा भी 80 रुपये किलो बिक रहा है. जबकि पोल्ट्री फार्म चलाने वाले अभी से दहशत में हैं कि कहीं उन्हे बड़ा घाटा न उठाना पड़े.

संक्रमण होने का खतरा
संक्रमण के बचने के लिए प्रशासन की ओर से सारी व्यवस्था की गई है. सभी पक्षियों की निगरानी भी की जा रही है. इसके साथ ही वन्य क्षेत्र में घूमने वाले लोगों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह किसी भी प्रकार के मृत पक्षी के पास न जाये और न ही किसी पक्षी को भोजन अपने हाथ से खिलाए. इन कार्यो से संक्रमण होने का खतरा और बढ़ जाता है.

Leave a Reply