पवन जल्लाद शबनम को देगा फांसी, UP के महिला फांसीघर में पहली बार दोषी औरत को सजा

मेरठ. दिल्ली के निर्भया कांड के चार दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला जल्लाद पवन अब अमरोहा की शबनम को फांसी देंगे. शबनम ने 2008 में अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही घर के सात लोगों को कुल्हाड़ी से काट दिया था.

हिंदुस्तान से बातचीत में पवन जल्लाद ने बताया कि वह छह महीने पहले मथुरा जेल का दौरा करके आया था जहां शबनम को फांसी दी जानी है. फांसीघर को लेकर मेरठ के पवन जल्लाद ने बताया कि वह बेहद जीर्ण और शीर्ण हालत में था. जिस तख्ते पर खड़ा करके दोषी को फांसी दी जाती है वह भी टूटा हुआ था. पवन के अनुसार उसे अब बदलवा दिया गया है.

वहीं उन्होनें कहा कि लीवर की खिंचाई भी ठीक से नहीं हो रही थी तो तेल लगवाकर लीवर को अब नरम कर दिया गया है. पवन जल्लाद का कहना है कि मथुरा जेल का फांसीघर पूरी तरह से तैयार हो गया है.

असामाजिक तत्वों ने की माहौल बिगाड़ने की कोशिश, मां दुर्गा की प्रतिमा किया खंडित

पवन ने बताया कि वह मथुरा जेल के अधिकारी से लगातार संपर्क में रहे हैं. मेरठ जेल के अधीक्षक डॉ. बीबी पांडेय ने बताया कि मथुरा जेल से जैसे ही पवन जल्लाद के लिए बुलावा आएगा वैसे ही उसे भेज दिया जाएगा.

मथुरा जेल को लेकर खास बात यह है कि पहली बार यहां किसी महिला को फांसी दी जाएगी. मथुरा में स्थित इस महिला फांसीघर को करीब 150 साल पहले स्थापित किया गया था. बता दें कि आजादी के 73 साल में किसी भी महिला को यहां फांसी नहीं दी गई.

कॉलेज में एडमिशन के नाम पर लड़कियों से फ्लर्ट, तुम जैसी ब्यूटीफुल… चैट वायरल

यूपी के इकलौते इस फांसीघर में अमरोहा की शबनम को फांसी दी जाएगी. उसने प्रेमी के साथ मिलकर 2008 में अपने परिवार वालों की हत्या कर दी थी. शबनम को सुप्रीमकोर्ट ने फांसी की सजा को बरकरार रखा था और राष्ट्रपति ने भी दया याचिका को ठुकरा दिया था.

Leave a Reply