आज के दौर में दलित समाज के हक की लड़ाई लड़ने व न्याय दिलाने वाला चेहरा – मनोज परमार

DG NEWS INDORE

इंदौर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

इंदौर । मनोज परमार जिन्होंने समाज के लोगो को इंसाफ दिलाने का बीड़ा उठाया है कई जगहों पर आज भी समाज पिछड़ा हुआ नजर आता है और कई ग्रामीण क्षैत्रो में आज भी समाज के लोगो के साथ जात पात को लेकर भेद भाव किया जा रहा है ऐसे लोगो के खिलाफ आवाज उठा कर सामाजिक समरसता को बरकरार रखने और सभी समाज को एक जुट होकर सभी को एक सा सम्मान मिले इसके लिये हमेशा प्रयास रथ समाज के लिये एक मिसाल बन चुके जो हमेशा समाज हित क लिये तत्पर रहते है आज के इस युग में यह केहना गलत नहीं होगा की जिस तरहा से बाबा साहेब ने दलितों के उथ्थान के लिये जो लड़ाई लड़ी थी उन्ही के मार्ग दर्शन पर चलते हुवे मनोज परमार भी दलितों पर हो रहे अत्यचार पर बहुत दुखी है इनका कहना है की आज के दौर में जहाँ पूरा विश्व में दलित समाज के मसीहा संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर को मानता है उनके संविधान को मानता है वही आज के इस युग में भी दलित समाज के लोगो पर अत्याचार होना इस देश की बड़ी विडंबना है जिस पर रोक लगाना बेहद जरुरी है जहाँ एक तरफ देश के प्रधान मंत्री देश की एक जुटता को लेकर तरह तरह के प्रयास कर रहे है तो वही कुछ लोग समाज में जातीवाद को बढ़ावा देकर समाज की एकता को भंग करने की कोशिश में लगे हुवे है जिनको आईना दिखाने का बीड़ा उठाया है आज के इस युग में दलित समाज के मसीहा कहलाने वाले जो हर समय समाज के लिये कुशल नेतत्व करते आये है ऐसे सेवा भावी जो हमेशा अपने लोगो की सहायता के लिये तत्पर रहते है समाज के गौरव एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष व समाज सेवक मनोज परमार जिनका लक्ष्य है की जाती वाद को जड़ से समाप्त करना और समाज की एक जुटता को बरकरार रखना जिससे की सभी समाज को बराबर का सम्मान मिल सके इसी कोशिश के साथ एक प्रयास चाहे किसी भी समाज का हो सभी को सम्मान मिलना चाहिये

Leave a Reply