प्रदेश के खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाया राज्य का सम्मान : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने किया 32वीं राष्ट्रीय कैनो स्प्रिंट राष्ट्रीय प्रतियोगिता का किया शुभारंभ
मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में खेल प्रतिभाओं के क्षमता प्रदर्शन में निरंतर हो रहा है उन्नयन : खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया
285 पदकों के लिए 13 मार्च तक चलेंगी प्रतियोगिताएँ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में खेलों को प्रतिष्ठित करने का प्रयास निरंतर किया जा रहा है। प्रदेश के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं सहित ओलिंपिक में भी प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश निरंतर आगे बढ़ रहा है। आत्म-निर्भर भारत और आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के संकल्प में कैनोइंग, स्टैंड अप पेड्लिंग आदि में लगने वाली बोट का निर्माण भी शीघ्र ही देश में किया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान, स्व. श्री संजीव कुमार सिंह की स्मृति में भोपाल के छोटे तालाब पर 32वीं राष्ट्रीय केनो स्प्रिंट, 15वीं पेरा केनो, प्रथम स्टेंडअप पैडलिंग राष्ट्रीय प्रतियोगिता 2021-22 के शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस बैंड द्वारा बजाई गई सुमधुर धुन और आतिशबाजी के बीच गुब्बारे छोड़कर राष्ट्रीय प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर कुमार सक्सेना, पुलिस महानिदेशक होमगार्ड श्री पवन जैन, पूर्व पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, श्रीमती ज्योति सिंह, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के खिलाड़ी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान के सम्मुख रो मार्च तथा प्रतियोगिता में शामिल होने वाली विभिन्न बोट की प्रस्तुति हुई। मुख्यमंत्री श्री चौहान को आयोजन की केप और स्मृति-चिन्ह भेंट किए गए। अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुश्री नमिता चंदेल ने खिलाड़ियों को शपथ दिलाई। मार्च 13 तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में 27 राज्य के 750 खिलाड़ी सम्मिलित हो रहे हैं। कुल 285 पदक के लिए प्रतिस्पर्धाएँ होंगी। इन प्रतिस्पर्धा के माध्यम से राष्ट्रीय दल के चयन की प्रक्रिया होगी, जो बीजिंग एशियन गेम में भाग लेगा। कयाकिंग कैनोइंग ओलिंपिक खेल है और देश में इस खेल में भोपाल का महत्वपूर्ण स्थान है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आईपीएस स्वर्गीय श्री संजीव कुमार सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि श्री सिंह अपने कार्यों से सदैव हमारी स्मृतियों में रहेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खेल हमारे जीवन का महत्वपूर्ण अंग हैं और जीवन में खेल भावना का होना भी आवश्यक है।

खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व और मार्गदर्शन में प्रदेश में खेल गतिविधियों का विस्तार और खेल प्रतिभाओं के प्रदर्शन एवं क्षमता में निरंतर उन्नयन हो रहा है। प्रदेश के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न खेलों में उपलब्धियाँ अर्जित की हैं। आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश में खेल सामग्रियों के निर्माण के क्षेत्र में भी कार्य किया जाएगा। पुलिस महानिदेशक होमगार्ड श्री पवन जैन ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply