स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री खुदीराम बोस की पुण्यतिथि पर नमन

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री खुदीराम बोस की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास पर उनके छायाचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की।

खुदीराम बोस मात्र 19 साल की उम्र में देश की स्वतंत्रता के लिए फाँसी चढ़ गए थे। कई विद्वानों के अनुसार वे देश के लिए फाँसी चढ़ने वाली सबसे कम उम्र के युवा क्रांतिकारी देशभक्त थे।

उन्हें 11 अगस्त 1908 को फाँसी दी गई। खुदीराम बोस का जन्म 03 दिसम्बर 1889 को मिदनापुर जिले में हुआ था।

सन् 1905 में बंगाल विभाजन के बाद खुदीराम बोस स्वाधीनता आंदोलन में टूट पड़े। वे रिवोल्यूशनरी पार्टी में शामिल हुए और वंदे मातरम के पर्चे वितरित करने और अनेक क्रांतिकारी गतिविधियों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

कोलकाता के मजिस्ट्रेट किंग्जफोर्ड पर बम फेंकने के प्रयास में दो यूरोपियन महिलाओं की मौत हो गई। खुदीराम बोस को गिरफ्तार कर मुकदमा चलाया गया और फिर फाँसी की सजा सुनाई गई।

Leave a Reply