IPS वी मधुकुमार के वायरल वीडियो का सच:अमेरिका से रची गई थी साजिश, जांच में हुआ खुलासा, लोकायुक्त जांच में दूध का दूध और पानी का पानी हुआ

DG News
India
रिपोर्टर मंगल देव राठौर की न्यूज

भोपाल। आईपीएस वी मधुकुमार का जुलाई 2020 में लिफाफा लेते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था, उस वक्त वे परिवहन आयुक्त थे। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियों के बाद उन्हें हटा दिया गया था। सरकार ने इस मामले में लोकायुक्त् जांच के आदेश जारी किए थे। हाल ही में लोकायुक्त जांच पूर्ण हुई है और इसमें दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। इस वीडियो की कोई प्रमाणिकता सामने नहीं आई है। यह वीडियो फेक था। आईपीएस को उलझाने की साजिश अमेरिका में बैठकर रची गई थी। लोकायुक्त जांच में यह खुलासा हुआ है।
मध्य प्रदेश लोकायुक्त (Madhya Pradesh Lokayukt) ने अपनी जांच में आईपीएस वी मधुकुमार (IPS V Madhu Kumar) को क्लीन चिट दे दी हैै 20 जुलाई 2020 को तत्कालीन परिवहन आयुक्त वी मधुकुमार का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था. इसका संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार ने उन्हें परिवहन आयुक्त पद से हटा दिया था।
आपको बता दें कि तथाकथित वायरल वीडियो में आईपीएस वी मधुकुमार कुछ पुलिस वालों से लिफाफे लेकर अपने ब्रीफकेस में रखते दिखाई दे रहे थे. तब वह आईजी उज्जैन पद पर थे. इस वीडियो के आधार पर वी मधुकुमार पर आरोप लगे कि वह अपने जूनियर अफसरों से महीना ले रहे हैं. लोकायुक्त जांच में पाया गया कि यह साजिश अमेरिका में बैठकर रची गई थी। यह वीडियो 19 जुलाई 2020 को मोबाइल नंबर +1(408)646-6417 से वायरल किया गया था, जो अमेरिकी राज्य कैलिफोर्निया में रजिस्टर्ड है। सोशल मीडिया में वीडियो आने के बाद से ही यह मोबाइल नंबर ऑफ है। इस तथाकथित वीडियो वायरल करने वाला व्यक्ति ही सामने नहीं आया। लोकायुक्त की जांच इस निष्कर्ष पर पहुंची कि वीडियो की कोई प्रमाणिकता नहीं है।

Leave a Reply