दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे प्लान, जिसमें मंदसौर जिला भी शामिल।

DG News
मंगल देव राठौर की न्यूज

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे में शामिल मंदसौर जिले के ग्राम ढाबला माधोसिंह से प्रारंभ होकर जिले से गुजरने वाले 102 किमी के 62 गांवों के 2603 किसानों को भूमि अधिग्रहण 2013 के मान से खेती जमीन का मुआवजा नहीं मिला है। अब यह मामला विपक्ष की ओर से तूल पकड़ने लगा है। साथ ही 2 अंतर भी सामने आए हैं, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे प्रभावितों को 60 करोड़ रुपए प्रति किमी की दर से मुआवजा मिलता लेकिन दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे प्रभावितों को मात्र 6 करोड़ प्रति किमी की दर ही मुआवजा मिला। मुद्दे को प्रदेश कांग्रेस महामंत्री महेंद्रसिंह गुर्जर ने उठाकर

राज्य और केंद्र के जनप्रतिनिधियों से मामले मे दखल चाहा है ताकि किसानों के साथ अन्याय ना हो।

मंदसौर कलेक्टर मनोज पुष्प को इस मामले को लेकर गुर्जर ने पत्र भी लिखा है ताकि उचित मुआवजा राशि दी जा सके। गुर्जर ने बताया विगत दिनों प्रभावित गाँवो के किसानों से मुलाकात कर बारीकी से पूरे मामले को समझकर किसानों की जायज मांगों का समर्थन करने की पहल की है।

दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेस वे के प्रभावित किसानों को 60 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर की दर से मुआवजा दिया गया है लेकिन दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे के प्रभावित किसानों को मात्र 6 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर की दर से मुआवजा दिया गया है।

-मंदसौर जिले के साथ अन्याय

श्री गुर्जर ने कहा कि जिले के किसानों को भूमि अधिग्रहण विधेयक 2013 के अनुसार एवं गौतमबुद्ध नगर की तर्ज पर बाजार दर से चार गुना मुआवजा किसानों को दिये जाने

Leave a Reply