मंत्री श्री डंग द्वारा मत्स्य-पालकों को बाइक, ऑटो, मोपेड और आइस बॉक्स का वितरण

नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने आज अपने प्रभार के जिले बालाघाट में प्रथम प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना में मत्स्य-पालकों को 140 मोटर साइकिल, 5 ऑटो रिक्शा, 6 मोपेड, 100 साइकिल और आइस बॉक्स के लिये राशि के चेक वितरित किये। श्री डंग ने कहा कि मत्स्य-पालक इससे कम समय में मछलियाँ गाँव, बाजार और घर-घर तक पहुँचा सकेंगे। मछलियाँ खराब होने से बचेंगी। परिणाम स्वरूप उनकी आय में वृद्धि होगी। श्री डंग ने संबंधित अधिकारियों को योजना का लाभ दूरस्थ क्षेत्र के मछुआरों तक सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। आयुष मंत्री श्री रामकिशोर कावरे और पूर्व मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

श्री डंग ने मछुआरों का आव्हान करते हुए कहा कि वे मत्स्य-पालन के साथ ही अपने बच्चों की शिक्षा पर भी अधिक ध्यान दें। श्री डंग ने प्रतीक स्वरूप बैहर के शैलेन्द्र टेकाम को बॉयो फ्लॉक के लिये 4 लाख 50 हजार रुपये, पाण्डेवाड़ा के वेदराम रहांगडाले को नवीन तालाब के लिये 2 लाख 20 हजार, किरनापुर की वंदना कावरे को मोटर साइकिल के लिये 45 हजार और डोंगरमाली की रेखाबाई को कियोस्क के लिये 6 लाख रुपये का चेक प्रदान किया। उन्होंने कार्यक्रम का शुभारंभ कन्या पूजन कर किया।

बालाघाट मत्स्य-पालन में प्रदेश का अग्रणी जिला है। जिले में 10 हजार हेक्टेयर जल क्षेत्र में मत्स्य-पालन और 68 करोड़ मत्स्य बीज का उत्पादन किया जाता है। योजना के अंतर्गत लाभान्वितों में कुछ महिला हितग्राही भी शामिल थीं, जिनके पति कोरोना संक्रमण से प्रभावित हुए थे। यह सहायता उनकी आजीविका में महत्वपूर्ण होगी।प्रत्येक गाँव में एप्रोच रोड सहित मुक्तिधाम बनायें

श्री डंग ने मनरेगा के तहत जिले के उन गाँवों में, जहाँ मुक्तिधाम नहीं हैं, वहाँ एक माह के अंदर मुक्तिधाम बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मुक्तिधाम के ऊपर शेड, प्लेटफार्म और एप्रोच रोड भी बनायें। उन्होंने कहा कि मनरेगा से गाँवों में खेल मैदान भी विकसित करें। गौशाला की आवश्यकता वाले स्थानों का प्रस्ताव शासन को भेजें।जिला चिकित्सालय का निरीक्षण

पर्यावरण मंत्री श्री डंग ने भगत सिंह जिला चिकित्सालय में चिकित्सा व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। उन्होंने परिसर में शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद पौध-रोपण किया। उन्होंने स्टॉफ के साथ ही वहाँ उपस्थित मरीजों से भी चर्चा की।विभागीय समीक्षा

प्रभारी मंत्री श्री डंग ने कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में सभी विभागों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शासकीय अधिकारी-कर्मचारी आम लोगों के लिये निष्ठा और समर्पण की भावना के साथ काम करें। सुनिश्चित करें कि शासकीय योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुँचे।बाँस पर आधारित पुस्तिका का विमोचन

प्रभारी मंत्री ने वन विभाग द्वारा बालाघाट जिले में बाँस की खेती, उत्पादन और बाँस आधारित उद्योग पर तैयार की गई पुस्तिका का विमोचन भी किया।

Leave a Reply