पहले डोज़ के बाद निर्धारित समय बाद दूसरा डोज़ जरूर लगवाएं

  • कोरोना की टैस्टिंग कम न करें
  • वैक्सिनेशन कार्य को दोबारा गति दें
  • मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कोरोना की स्थिति एवं वैक्सिनेशन कार्य की समीक्षा की



मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के किसी भी जिले में कोरोना की टैस्टिंग कम न की जाए। हमें हर हालत में कोरोना की तीसरी लहर प्रदेश में आने से रोकना है। साथ ही मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग आदि सावधानियाँ अनिवार्य रूप से बरती जाएं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में शत प्रतिशत पात्र जनसंख्या का वैक्सिनेशन जल्दी से जल्दी किया जाना है। पहले डोज़ के बाद दूसरा डोज़ जरूर लगवाएं। दूसरे डोज़ के बाद ही कोरोना संक्रमण से पूरी सुरक्षा मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वैक्सिनेशन कार्य को दोबारा गति दी जाए, बारिश के कारण व्यवधान हुआ था #MPVaccinationMahaAbhiyan भी चलाया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में कोरोना की स्थिति एवं वैक्सिनेशन कार्य की समीक्षा की। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री Vishvas Kailash Sarang, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे।

कोरोना के 10 नए प्रकरण

प्रदेश में कोरोना के नए 10 प्रकरण आए हैं। एक्टिव प्रकरणों की संख्या 149 है। साप्ताहिक पॉजिटिविटी 0.02% तथा आज की पॉजिटिविटी 0.01% है। नए साप्ताहिक प्रकरण 108 आए हैं, जबकि इसके पहले के सप्ताह में 106 व उसके पहले के सप्ताह में 86 नए प्रकरण आए थे।

कोरोना टैस्टिंग बढ़ाएं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश प्रतिदिन लगभग 70 हजार कोरोना टैस्ट होते हैं। प्रदेश के अशोकनगर, श्योपुर, कटनी, राजगढ़, खरगौन, ग्वालियर, विदिशा, दतिया, रतलाम तथा बालाघाट जिलों में कोरोना टैस्टिंग काम है, वहां टैस्टिंग बढ़ाई जाए। दमोह, डिंडोरी, अलीराजपुर, इंदौर, देवास जिलों में लक्ष्य से अधिक टैस्टिंग किए जाने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बधाई दी।

पहला डोज़ 53% व दूसरा डोज 10% को लगा

वैक्सिनेशन कार्य की समीक्षा में पाया गया कि प्रदेश की पात्र जनसंख्या के 53% व्यक्तियों को कोरोना वेक्सीन का पहला डोज़ एवं 10% जनसंख्या को दूसरा डोज़ लगा दिया गया है। कुल 02 करोड़ 93 लाख पहले डोज़ व 57 लाख दूसरे डोज़ लगाए जा चुके हैं।

Leave a Reply