आधारशिला वृध्दाश्रम में क्रांतिकारी श्रीमती भीखाजी  कामा का जन्म दिवस बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया!

रमन वर्मा

जिसमे बतौर मुख्य अतिथि रही इंजीनियर इंशु चौरसिया ! जिन्होंने कहा कि भारत की आज़ादी से चार दशक पहले, साल 1907 में विदेश में पहली बार भारत का झंडा एक औरत ने फहराया
और जर्मनी के स्टटगार्ट में हुयी अन्तर्राष्ट्रीय सोशलिस्ट कांग्रेस में मैडम भीकाजी कामा ने कहा कि – ‘‘भारत में ब्रिटिश शासन जारी रहना मानवता के नाम पर कलंक है। एक महान देश भारत के हितों को इससे भारी क्षति पहुँच रही है।’’ उन्होंने लोगों से भारत को दासता से मुक्ति दिलाने में सहयोग की अपील की और भारतवासियों का आह्वान किया कि – आगे बढ़ो, हम हिन्दुस्तानी हैं और हिन्दुस्तान हिन्दुस्तानियों का है। उनके इस योगदान को कभी भुलाया नहीं जाता था इसी कड़ी में आधारशिला वृध्दा आश्रम के प्रबंधक प्रदीप कटिहार बुजुर्गो का सहारा है वृद्धा आश्रम!!

भाजपा के युवा नेता शिवम जायसवाल, नवीन सोनकर ,प्रवीण गौड़ ने कहा की मैडम भीकाजी कामा ने इस कांफ्रेंस में ‘वन्देमातरम्’ अंकित भारत का प्रथम तिरंगा राष्ट्रध्वज फहरा कर अंग्रेजों को कड़ी चुनौती दी।  ऐसी महिलाओं को जब इतिहास शूरवीर महिलाओं का कृतियां पढ़ने कोमिलता है अपने आपको गौरवान्वित महसूस होता है ऐसे में हम सभी को राष्ट्र निर्माण में सहभागी चाहिए जिससे हमारा भारत दुनिया के सर्वोच्च शिखर तक पहुंच सके! और विश्व गुरु बन सके! कर्यक्रम में श्री गोपाल सिंह राठौड़, राम सांवर जायसवाल, दुर्गा प्रसाद अग्रहरी, गामा प्रसाद, जगदीश पाठक, तथा महिला संम्वासी कांवला देवी, झिनकी, कौशल्या देवी धनौती देवी तथा वृद्धा आश्रम स्टाफ में प्रदीप कटियार, भंडार प्रभारी अभिजीत शुक्ला, केयरटेकर कृष्ण कुमार दुबे, अरुण कुमार, अभिषेक शुक्ला सीमा देवी, प्रभावती, बिंदी व वृद्धजन उपस्थित रहे।

About नवरत्न गुप्त जिला संवाददाता महराजगंज

पत्रकार
View all posts by नवरत्न गुप्त जिला संवाददाता महराजगंज →

Leave a Reply