मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पीपल, कचनार और सप्तपर्णी के पौधे लगाए

सेवानिवृत्त साथियों के संगठन वाल्मीकि एकता संघ ने भी किया पौध-रोपण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी उद्यान में वाल्मीकि एकता संघ के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालक शाश्वत बनर्जी के पहले जन्म-दिवस पर सुश्री संयुक्ता बनर्जी, श्रीमती दीपाली बनर्जी तथा श्रीमती सिरोलिया के साथ कचनार, सप्तपर्णी और पीपल के पौधे लगाए।

पौध-रोपण में वाल्मीकि एकता संघ के सर्वश्री सी.एस. कल्याणी, मोहन कल्याणी, पी.सी. चौहान, विशाल कल्याणी, जीवन लाल भाग्यवान, आर.एस. मैना, गोपाल और सुरेश भी सम्मिलित हुए।

वाल्मीकि एकता सेवानिवृत्त साथियों का संगठन है, जो जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा व्यवस्था और नागरिकों को स्वच्छता और पर्यावरण-संरक्षण की गतिविधियों के लिए प्रेरित करता है। साथ ही वृद्धाश्रम में भोजन और जरूरी दवाओं की व्यवस्था के लिए विशेष रूप से सक्रिय है।

पौधों को महत्व

आज लगाया गया पीपल छायादार वृक्ष है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व है। सप्तपर्णी सदाबहार औषधीय वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में बहुत महत्व है। इसका उपयोग विभिन्न औषधि के निर्माण में होता है। कचनार सुंदर फूलों वाला वृक्ष है। प्रकृति ने कई पेड़-पौधों को औषधीय गुणों से भरपूर रखा है, इन्हीं में से कचनार एक है। कचनार की गणना सुंदर और उपयोगी वृक्षों में होती है।

Leave a Reply