मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि बूंदाबांदी के चलते दो दिन तक ऐसे ही रहेगा मौसम

dg news rajgarh

राजगढ़ से कल्पना कीर की रिपोर्ट

राजगढ़ । शहर सहित जिलेभर में पिछले करीब एक सप्ताह से बादल छाए हुए हैं। इसी के तहत सोमवार को जिलेभर में बादल छाने केे साथ ही बूंदाबांदी भी होती रही। ऐसे में नागरिक पूरे समय ठिठुरने पर मजबूर होते रहे। हालांकि इस मौसम व बूंदाबांदी से फसलों को कुछ लाभ मिला है। माना जा रहा है कि आने वाले कुछ समय तक ऐसा ही मौसम यहां पर बना रह सकता है। मौसम विभाग ने बुधवार तक ऐसा ही तापमान रहने की संभावना व्यक्त की है। सोमवार को न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री रहा, जबकि अधिकतम 21.0 रहा । उल्लेखनीय है कि जिले में पिछले करीब एक सप्ताह से बादलों केे छाने का सिलसिला जारी है। हालात यह है कि पूरी तरह से धूप भी नहीं निकल पा रही है। इस सबक बीच सोमवार को दिन में रूक-रूक कर कई बार बूंदाबांदी की स्थिति निर्मित होती रही। बूंदाबांदी होने के कारण नागरिक ठिठुरने को मजबूर होते रहे। पूरे समय सर्दी के चलते नागरिकों को सर्दी में परेशान होते हुए देखा गया। उधर सड़कों पर वाहन भी बगैर लाइट के नहीं चल सकेे। दिन में भी धुंध छाई रही। यह हालात पूरे समय बने रहे। बादल छाने के साथ ही कई जगह पर कोहरे की चादर भी जिले में देखने को मिली। विशेषज्ञों की मानें तो अगले कुछ दिनों तक ऐसा ही मौसम जिले में बना रह सकता है। बताया गया है कि बुधवार तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। जनवरी में अब तक का न्यूनतम तापमान सबसे अधिक रिकार्ड किया गया है। यूनतम तापमान 17.2 डिग्री रहा, जबकि अधिकतम 21.0 रहा। जबकि इसके पहले गत दिवस 16.5 न्यूनतम व 27 डिग्री अधिकतम तापमान रिकार्ड किया गया था । कई क्षेत्रों में छाई रही कोहरे की धुंध जिले में बूंदाबादी होने एवं बाादल छाने के साथ ही कोहरे की हल्की सी धुंध भी छाई रही। हाईवे, सहित खेत, नदी, तालाब व पहाड़ी क्षेत्रों में यह धुंध पूरे समय नजर आई। उधर शाम होते-होते धुंध ओर बढ़ गई थी। धुंध से बचने के लिए नागरिक सड़कों पर लाइट जलाकर अपने-अपने वाहनों को चलाते हुए नजर आए। जहां सूने इलाके थे वहां पर इसका प्रभाव काफी अधिक देखने को मिला है। नदी, तालाब के किनारे व खेतों में यह काफी अधिक नजर आई। सर्दी से बचने अलाव-गर्म कपड़ो का सहारा – उधर सर्दी से बचने के लिए नागरिकों को अलाव एवं गर्म कपड़ों का सहारा लेते हुए देखा गया। पूरे समय दिन में जगह’-जगह नागरिक अलाव जलाकर उनके सहारे बैठे हुए नजर आए। इसके अलावा गर्म कपड़ों का भी उपयोग करते हुए देखे गए। पूरे जिले में स्थिति आम रही। चहुंओर नागरिक सर्दी से बचने के लिए गर्म कपड़ों का सहारा लेते रहे। हालांकि राहत की बात यह रही कि हवा नहीं चलने के कारण सर्दी से कुछ राहत भी मिली है।

Leave a Reply