घेराव के पहले प्रशासन ने हटवाएं मवेशी, कांग्रेसियों ने घेरा कलेक्ट्रेट

DG NEWS

राजगढ़ से कल्पना कीर की रिपोर्ट

राजगढ़ । जिले में बेसहारा मवेशियों के सड़कों पर विचरण करने व गोशालाओं में मवेशियों के लिए चारे, पानी व ठहरने का इंतजाम नही कराने के विरोध में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट का घेराव कर प्रदर्शन किया। उधर घेराव की जानकारी लगने पर नगर पालिका द्वारा सुबह ही मवेशियों को सड़कों से हटाकर पहले मंडी व बाद में गोशालाओं में शिफ्ट करवा दिया था।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप था कि शासन प्रशासन बेसहारा मवेशियों के लिए कोई उचित इंतजाम नही कर सका है। न मवेशियों के लिए गोशालाओं में इंतजाम किए गए और न ही उनके लिये चारे पानी का इंतजाम किया गया है। जिसके चलते जिला मुख्यालय से लेकर हर नगर, कस्बे तक मवेशी खुले में घूमने को मजबूर है। मवेशी दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर है। हालात यह है कि गायों को सड़कों पर डेरा डालना पढ़ रहा है। पूरे समय मवेशी सड़कों पर रहने को मजबूर है। इसी के चलत्ते कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता व पदाधिकारी खिलचीपुर नाके पर एकित्रत हुए। इसके बाद मंडी परिसर में मवेशियों को रखने की भनक लगने पर कांग्रेसी पहले मंडी पहुंचे, हालांकि वहां बहुत अधिक मवेशी उन्हें नहीं मिले। इसके बाद फिर खिलचीपुर नाके पर आए ओर कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली व कलेक्ट्रेट पहुंचकर घेराव किया। कलेक्ट्रेट पहुंचे कांग्रेसियों को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा पहले ही बाहर का गेट बंद कर दिया था। बाहर गेट के समीप पहुंचकर कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों द्वारा जमकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन को आड़े हाथों लिया। प्रदर्शन करते हुए गेट पर ही करीब आधे घण्टे तक प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों द्वारा कलेक्ट नीरज कुमार सिंह को ही गेट पर ज्ञापन देने की मांग कर रहे थे। बाद में एडीएम कमलचन्द्र नागर ने मौके पर पहुंचकर पार्टी पदाधिकारियों से चर्चा की। ऐसे में राज्यपाल के नाम का ज्ञापन एडीएम को सौंपा गया। ज्ञापन में कहा कि दिग्विजयसिंह के शासनकाल के समय गोसेवा आयोग कागठन किया गया था। साथ ही कमलनाथ जी ने प्रति मवेशी पर 20 रुपये के हिसाब से चारे के लिए राशि प्रदान की जाएगी, लेकिन शिवराज सरकार ने 20 रुपये की जगह 2 रुपये राशि कर दी गई है। इस मौके पर जिलाध्यक्ष प्रकाश पुरोहित, पूर्व मंत्री व खिलचीपुर विधायक प्रियव्रतसिंह, ब्यावरा विधायक रामचंद्र दांगी, बापूसिंह तंवर, पूर्व विधायक पुरूषोत्तम दांगी, चंदरसिंह सौंधिया, युकां जिलाध्यक्ष हेमेंद्रसिंह सहित पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपिस्थत थे।

प्रदर्शन की सुनकर मवेशियों को सड़कों से हटवाया गया

जैसे ही प्रशासन को भनक लगी कि आज मवेशियों को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा विरोध प्रदर्शन व कलेक्ट्रेट के घेराव का कार्यक्रम रखा गया है, तो उसी के साथ सुबह से ही नगर पालिक द्वारा मवेशियों को सड़कों से हटवाकर पहले कृषि उपज मंडी में खड़ा करवाया व बाद में उन्हें गोशालाओं के लिए भिजवा दिया गया।

मवेशियों के कारण होते है आये दिन हादसे

प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने कहा कि गोशालाओं में इंतजाम नही होने के कारण मवेशी सड़कों पर बैठे रहते हैं, जिसके कारण वह हादसों का शिकार होते हैं। कई वाहनों की चपेट में आने से मवेशियों को अपनी जान तक गंवाना पड़ती है। साथ ही इनके सड़कों पर बैठने से दो व चार पहिया वाहन चालक व वाहनों में सवार लोग भी दुर्घटनाओं के शिकार हो जाते हैं।

हमने गोशालाएं स्वीकृत की यह सरकार इंतजाम नही कर सकी

विरोध प्रदर्शन के दौरान पूर्व उर्जा मंत्री व खिलचीपुर विधायक प्रियव्रतसिंह ने भाजपा सरकारों को आड़े हाथों लिया। श्री सिंह ने कहा कि जब प्रदेश में हमारी पार्टी की सरकार आई तो हमारे द्वारा गोशालाओं की घोषणा की थी, जिनपर काम शुरू कर दिया था। जगह जगह गोशालाएं खोलने की प्लानिंग की व उनपर काम शुरू करवाया। कुछ जगह काम पूर्णत? की ओर पहुंच गया था, लेकिन बाद में भाजपा सरकार ने स्वीकृत गोशालाएं पूरी करने में तक कोई रुचि नही ली। सरकार बेसहारा मवेशियों के लिए चारा, पानी व ठहराने के लिए इंतजाम करने में असफल रही है

Leave a Reply