कोविड-19 की तीसरी लहर के मददेनजर मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से किया सम्बोंधित

झाबुआ ! कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर के मददेनजर कोरोना महामारी के रोकथाम एवं बचाव को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वर्चुअल माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षक, चिकित्सा अधिकारी के साथ-साथ क्राइसेस मेंनेजमेंट के सदस्यों को सम्बोंधित करते हुए कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की संभावना से इनकार नही किया जा सकता, आवश्यकता इस बात की है कि इस लहर के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए सभी स्तर पर पूर्व की भाॅति सहयोग एवं सहभागिता के साथ प्रयास किया जाए और हम सभी मिलकर कोविड-19 लहर को रोक सकें। उन्होंने कलेक्टरों को निर्देशित किया कि जिले के स्वास्थ्य संस्थाओं में सभी आवश्यक व्यवस्थाए सुचारू रूप से संचालित कराए। जिले में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट चालू रहें, आक्सीजन कंसस्टेटर एवं आक्सीजन सिलेंडरों की प्रर्याप्त मात्रा जिलोें में सुनिश्चित की जाए साथ ही स्वास्थ्य संस्थाओं में बच्चों के लिए पृथक से कोविड वार्ड बनाया जाए, इसके साथ-साथ अन्य लोगों के लिए भी कोविड वार्ड बनाया जाए, अस्पतालों में कोरोना महामारी के बचाव के लिए आवश्यक दवाओं का एक माह का स्टाॅक रखा जाए साथ ही मरीजों की जानकारी सार्थक पोर्टल में दर्ज कर आवश्यकतानुसार उपचार किया जाए। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालय भी अपने संस्थाओं मंे कोविड वार्ड बनाए तथा मरीजों का इलाज शासन द्वारा निर्धारित शुल्क के आधार पर ही किया जाए और रेट लिस्ट भी अपने अस्पताल में लगाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संभावित मरीजों की जांच आरटीपीसीआर द्वारा किया जाए और 24 घंटे में उसकी जांच रिपोर्ट दी जाए जिससे समय पर मरीज का इलाज किया जा सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चें जिनका जन्म 2007 के पहले हुआ है उन्हें निःशुल्क कोवैक्सीन टीका ही लगाया जाए तथा स्कूलों में बडों का वैक्सीनेशन न किया जाए, होम आइसोलेशन की माॅनिटरिंग नियमित रूप से डीसीसीसी के माध्यम से किया जाए। उन्होंने कहा कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण के साथ-साथ कोविड-19 की तीसरी लहर रोकने, कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करने का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यो के साथ-साथ जन अभियान परिषद् के सदस्यों, धर्म गुरूओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, स्वय सेवी संस्थाओं एवं इलेक्ट्राॅनिक एवं प्रिंट मीडिया एवं रोटरी क्लब आदि का सहयोग एवं सहभागिता ली जाए। इस मौके पर कलेक्टर कार्यालय के एनआईसी कक्ष में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जे. एस. बघेल मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे. पी. एस. ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी श्री डॉ. राहुल गणावा, सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग श्री प्रशांत आर्य, रोटरी क्लब के पदाधिकारी श्री संजय जी काठी, श्री हिमांशु जी त्रिवेदी , प्रभारी पीआरओ सुधीर कुशवाह आदि उपस्थित थे ! मुख्यमंत्री के वर्चुअल उद्बोधन को विकासखंड स्तर पर एवं ग्राम स्तर पर भी सुना गया।

Leave a Reply