स्‍वामी विवेकानन्‍द जी के 158 वीं जयंती पर आयोजित की गई जिला स्तरीय कार्यशाला

झाबुआ l मन में ठान लिया कि मुझे काम करना है तो ही लक्ष्‍य प्राप्‍त किया जा सकेगा, उक्‍त विचार स्‍वामी विवेकानन्‍द जी के थे। स्‍वामी विवेकानन्‍दजी ने युवा मानस की परिभाषा ही बदल दी स्‍वामी जी का मत था कि पहले जो भूखा है , उसको भोजन की आवश्‍यकता पहले है। धर्म भारत की आत्‍मा है धर्म मुक्‍त हम हो नही सकते है। हमारा सर्वप्रथम परिचय हमारा आचरण है, हमारा चरित्र अच्‍छा होना चाहिए। स्‍वामी विवेकानन्‍दजी ने कहा में अकेला हॅूं, अगर मेरी तरह 100 लोग भी हो जाए तो पुरे भारत को बदल सकते है। मत कहो कि मै कमजोर हॅू, हम अपनी बुराई और दोष पर विजय प्राप्‍त करें। 60 करोड युवा लोग भारत में है, 35 वर्ष की आयु के लोग कमजोर कैसे हो सकते है। स्‍थानीय स्‍तर पर भी कितने लोग है, जो नेतृत्‍व करना चाहते है उनके अनुभवों के द्वारा आप महत्‍वपुर्ण कार्य कर सकेगे, बहुत से कला कौशल के काम अपने क्षैत्र में हो सकते है। जो बच्‍चें शिक्षा के क्षैत्र में नवाचार अपनाए तब जाकर उन्‍हें क्षैत्र में विकसित होने का अवसर मिलेगा,अपनी प्रतिभा को बढाने के लिए प्रयास करना चाहिए। युवा में संवेदनशीलता एवं साहस होना चाहिए उसी को स्‍वामी विवेकानन्‍द जी ने युवक कहा है। उक्‍त बातें जिला स्‍तरीय संवाद कार्यक्रम के मुख्‍य वक्‍ता एवं पूर्व प्राचार्य डॉ. के.के. त्रिवेदी ने स्‍वामी विवेकानन्‍द जी की 158वीं जयन्ति (राष्‍ट्रीय युवा दिवस) पर आयोजित संवाद कार्यक्रम में कही।
स्‍वामी विवेकानन्‍द जी की 158वीं जयंती के उपलक्ष्‍य में मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के नेतृत्व में जिला स्‍तरीय संवाद कार्यक्रम का आयोजन स्‍थानीय अम्‍बा पेलेस, बाडकुआ झाबुआ में किया गया। जिसमें जिले के सभी विकासखण्‍डों से लगभग 225 प्रतिभागियों द्वारा सहभागिता की गई। संगोष्ठि कार्यक्रम मुख्य अतिथि माननीय गुमानसिंह डामोर लोकसभा सांसद , विशेष अतिथि परिषद की जिला जन अभियान समिति के पूर्व उपाध्यक्ष पर्वत मकवाना ओर कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्राचार्य ओर पण्डित गणेशजी उपाध्याय एवं प्रमुख वक्‍ता के.के. त्रिवेदीजी की उपस्थिति में किया गया। संवाद कार्यक्रम का शुभारंभ सर्वप्रथम भारतमाता ओर स्‍वामी विवेकानन्‍दजी के चित्र पर माल्यार्पण ओर दिप प्रज्वलन अतिथियों कर किया गया । सभी अतिथियों का पुष्‍पमाला से स्वागत परिषद् के विकासखण्‍ड् समन्‍वयकों द्वारा किया गया। कार्यक्रम का स्वागत भाषण एवं रूपरेखा म.प्र. जन अभियान परिषद झाबुआ के जिला समन्वयक जय दीक्षित द्वारा दिया गया एवं आयोजित संवाद कार्यक्रम की विस्‍तृत रूपरेखा प्रतिभागियों के समक्ष रखी ।
संवाद कार्यक्रम उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाले वालेंटियर्स एवं समाजसेवियों द्वारा सामाजिक क्षैत्र में निस्‍वार्थ भाव से किए गए कार्यो का प्रस्‍तुतिकरण सभी के समक्ष रखा।
जिला स्तरीय संवाद कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि गुमानसिंह डामोर लोकसभा सांसद ने अपने उदृबोधन में स्‍वामी विवेकानन्‍द को नमन करते हुए उनके द्वारा किए गए कार्यो के बारे में बताया। उन्‍होने वालेंटियर्स/समाजसेवियों द्वारा किए गए कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना काल में हमारे युवाओं ने आगे आकर जो कार्य किया है वह प्रशंसा के काबिल है हमें कोरोना से जीतना है इसिलिए आगे आकर हमें कार्य करना चाहिए,आप जो भी कार्य करें उसमें मैं आपके साथ हॅू।
गुमानसिंह डामोर लोकसभा सांसद द्वारा निस्‍वार्थ भाव से सामाजिक क्षैत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वालें वालेंटियर्स/समाजसेवियों को सम्‍मान-पत्र एवं मोमेंटों से सम्‍मानित किया गया है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विशेष अतिथि पर्वत ने स्‍वामी विवेकानन्‍द द्वारा किए गए कार्यो की सराहना करते हुए उन्‍हें नमन किया गया। परिषद् के वालेंटियर्स/समाजसेवियों द्वारा किए जा रहे कार्यो की प्रशंसा की।
कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे गणेश जी उपाध्‍याय ने अपने उद्बोधन में कहा कि ’’किस काम का वह दरिया जिसमें ना हो पानी, किस काम का वह दरिया जिसमें ना हो जवानी’’। आगे उनके द्वारा कहा गया कि मनुष्‍य-मनुष्‍य में भेद नही होना चाहिए। विवेकानन्‍द स्‍वामी जी ने कहा है कि नर सेवा ही नारायण सेवा है। हमारा चरित्र दागदार नही होना चाहिए समाज के बीच में जाते है तो हमारे शब्‍दों को कैसा होना चाहिए यह सोचना चाहिए। स्‍वामी जी ने सभी कार्य युवा में रहकर किया और युवावस्‍था में ही दूनिया से चले गए। ऐसी विभूति को मेरा शत-शत नमन जिसने थोडे समय में ही इस दूनिया को बहुत कुछ दिया। जिला स्‍तरीय संवाद कार्यक्रम में जिले के सभी विकासखण्‍डो से प्रतिभागियों ने सवांद का लाभ और अनुभव प्राप्त किया ।आयोजित संगोष्ठि कार्यक्रम में जिले के सभी ब्लॉक समन्वयक, मेंटर्स , सामाजिक कार्यकर्ता तथा प्रस्‍फुटन समितियों के सदस्‍य उपस्थित रहे । संगोष्ठी कार्यक्रम का संचालन ब्‍लाक समन्‍वयक तेजसिंह देव ओर आभार प्रदर्शन पेटलावद ब्‍लाक समन्‍वयक प्रवीण पवार ने किया।

Leave a Reply