आखिर ऐसा क्या हुआ नहीं हुई सेंपलिंग खाली हाथ लौटी टीम देखे हमारी खबर उज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

नीमच—जावद नगर में कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या ने फिर से सभी को चिंता में डाल दिया है कल वार्ड क्रमांक 4 धान मंडी में एक व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोनावायरस पाई जाने के बाद उसके निवास स्थान पर से एंबुलेंस के द्वारा उसे ले जाने की मात्र 1 घंटे के अंदर कंटेंटमेंट एरिया बना दिया गया जबकि बुधवार को ही वार्ड क्रमांक 4 की कैलाश गली एवं नीमच रोड पर कंटेंटमेंट एरिया बनाने में प्रशासन को 24 घंटे तक विचार विमर्श करना पड़ा क्योंकि यहां पर प्रशासन का कोई नियम कानून लागू होता नहीं दिख रहा था शिकायत के बाद कंटेंटमेंट तो बन गए परंतु कल गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम जब सैंपलिंग के लिए पहुंची मगर बिना सैंपल लिए खाली हाथ लौटी प्राप्त जानकारी के अनुसार परिवार के मात्र दो व्यक्तियों के सैंपल नीमच में लिए जाने की सूचना आई मगर ना तो शासकीय चिकित्सालय जावद में जाकर पॉजिटिव आए परिवार के सदस्यों ने सैंपलिंग करवाई और ना ही सैंपल लेने गई टीम को सैंपल लेने की इजाजत दी गई एक अधिकारी ने बताया कि सैंपल उसी का लिया जा रहा है जो स्वयं देने के लिए तैयार हो फीवर क्लीनिक पर कुछ लोग स्वयं अपनी जिम्मेदारी समझते हुए सैंपल देने आए थे उन्होंने उनके संपर्क में आने वाले लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रखा ऐसे लोगों की कई लोगों ने प्रशंसा की क्योंकि वह स्वयं सैंपल देने पहुंचे मगर जिनके घर स्वास्थ्य अधिकारी पहुंचे वहां ऊंची पहुंच के कारण वे सैंपल नहीं ले पाए अधिकारी ने यहां तक कहा कि मैं देख रहा हूं यहां पर खास आदमी और आम आदमी मैं किस प्रकार का बर्ताव किया जा रहा है पहले जब कोई सैंपल देने के लिए तैयार नहीं था तो क्यों उन्हें जबरन प्रशासन के अधिकारी एंबुलेंस में ले गए और क्वॉरेंटाइन किया क्या आगे भी इसी तरह आम आदमी के प्रति प्रशासन का रवैया नरम रहता है इस संबंध में कई लोगों ने कहा कि अब प्रशासन के नियम और कानून कहां गए अगर सैंपल नहीं देने की विशेष छूट खास आदमी को है तो आम आदमी को क्यों नहीं या विशेष ऑफर आम आदमी को भी मिलना चाहिए

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply