निकला नया मापदंड:–गेहू खरीदी केंद्रों पर तुलाई के पहले बायोमेट्रिक मशीन से होगी किसान की पहचान

समर्थन मूल्य में 200000 टन गेहूं खरीदी का लक्ष्य पिछले साल 16000 टन की भी खरीदी नहीं हुई थी

पंजीकृत किसान के खाते में पहुंचेगी राशि इस बार मौसम अनुकूल होने से अच्छी पैदावार होने की उम्मीद

नीमच:—इस बार समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी के नए मापदंडों पर होगी हर बार की तरह किसानों को गेहूं बेचने के लिए एस एम एस भेज कर नहीं बुलाया जाएगा बल्कि किसानों को गेहूं बेचने से 7 दिन पहले अपना स्लाॅट बुक करवाना होगा किसान द्वारा जो तारीख गेहूं बेचने के लिए दी जाएगी उस तारीख पर किसान को स्वयं अपना गेहूं लेकर खरीदी केंद्र पर पहुंचना होगा माह के अंत तक खरीदी शुरू होना है ऐसे में खरीदी का लक्ष्य तय हो चुका है जिला स्तर पर वर्ष 2022-2023 के लिए 2 लाख टन गेहूं खरीदी का लक्ष्य रखा गया है जो पिछले साल की वास्तविक खरीदी से कई ज्यादा है क्योंकि इस बार मौसम अनुकूल रहने के कारण उत्पाद अच्छा होने की उम्मीद है पिछले साल 16000 टन गेहूं की भी खरीदी नहीं हो पाई थी
जिले में समर्थन मूल्य पर उपज खरीदी के लिए फिलहाल पंजीयन हो रहा है हालांकि अंतिम तारीख 5 मार्च थी लेकिन सरकार ने इसे बढ़ाकर 10 मार्च कर दिया है ताकि कोई किसान पंजीयन से वंचित न रहे इस साल समर्थन मूल्य पर 25 मार्च से गेहूं की खरीदी करने की तारीख अभी तय है इसे देखते हुए जिला स्तर पर गठित समिति द्वारा पिछले 3 साल की खरीदी और इस साल रबी सीजन में उत्पादन की संभावना को देखते हुए संभाग स्तर से मिले निर्देशों के आधार पर खरीदी का लक्ष्य तय किया है जिले में इस साल 200000 टन अर्थात 2000000 कुंटल गेहूं खरीदी का लक्ष्य तय किया गया है इसके लिए फ़िलहाल नीमच मनासा व जावद ब्लॉक में 41 केंद्रों को तय किया गया है खरीदी को लेकर जिला प्रशासन ने अपने स्तर पर अभी से तैयारी भी प्रारंभ कर दी है सरकारी के 7 निजी गोदामों की भंडारण क्षमता सहित अन्य जानकारी तैयार की जा रही है ताकि खरीदी के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत ने हो वर्तमान में जिले में निजी व सरकारी मिलाकर कुल 60 गोदाम वेयरहाउस है इनमें 15 सरकारी और शेष निजी व भागीदारी वाले हैं
आधार नंबर किया अनिवार्य सत्यापन के बाद ही की जाएगी तुलाई
इस बार पंजीयन से लेकर खरीदी और भुगतान तक की प्रक्रिया में बदलाव किया गया है पंजीयन के लिए इस बार खाता खसरा नंबर के साथ आधार नंबर को भी अनिवार्य किया गया है ताकि किसान की पहचान हो सके और आधार से जुड़े बैंक खाता नंबर में ही भुगतान हो पंजीयन के दौरान ओटीपी नंबर के साथ बायोमेट्रिक मशीन से थंब लेकर पंजीयन का भी ऑप्शन भी रखा गया अब खरीदी के समय खरीदी केंद्र पर भी किसान की पहचान के लिए बायोमेट्रिक मशीन से पहचान होगी सत्यापन के बाद ही खरीदी की जाएगी हालांकि केंद्र पर बेचने के लिए आने के पहले किसान जब स्लाटर बुक करवाएगा तब वह अपनी जगह परिवार के सदस्य को नॉमिनेट कर उपज बेचने के लिए भेज सकेगा ताकि महिलाओं व बुजुर्ग के साथ यदि कोई बीमार है तो उसकी जगह उसका प्रतिनिधि उपज लेकर जा सके लेकिन भुगतान पंजीकृत किसान के खाते में ही किया जाएगा
गेहूं खरीदी का लक्ष्य तय कर लिया गया है
जिले में इस बार गेहूं खरीदी का लक्ष्य 200000 टन से किया गया है भंडारण के वेयरहाउस गोदाम में पर्याप्त क्षमता है मूल्यांकन किया जा रहा है जरूरत के अनुसार ही निजी गोदामों को चिन्हित करेंगे फिलहाल पंजीयन कार्य चल रहा है किसान 10 मार्च तक पंजीयन करवा सकते हैं
आर एन दिवाकर कनिष्ठ खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अधिकारी नीमच

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply