आबकारी विभाग द्वारा वर्ष 2015 मे निष्पादित डोडाचूरा निविदा मे हुई अनियमितता का हुआ पर्दाफाश उज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

म़दसौर। आबकारी विभाग द्वारा वर्ष 2015 मे निष्पादित डोडाचूरा निविदा मे हुई अनियमितता की शिकायत थाना वायडीनगर पर प्राप्त हुई थी। सिद्वार्थ चौधरी पुलिस अधीक्षक मन्दसौर द्वारा शिकायत की गंभीरता से जांच कराई गई थी। जांच के दौरान सुक्ष्मता से विवेचना करते वर्ष 2015 मे निष्पादित डोडाचूरा निविदा मे हुई अनियमितता का खुलासा हुआ।
दिनांक 02.01.2020 को सूचनाकर्ता श्री प्रकाशचन्द्र पिता पुनमचन्द्र केरवार आबकारी उप निरीक्षक वृत मन्दसौर वर्ष 2015 मे मन्दसौर जिले के भावगढ पाइंट डोडाचूरा निविदा मे हुई अनियमितता के विरूद्व मय दस्तावेज थाना वायडीनगर मे लवकेश पिता अरविन्द कुमार राठोर उम्र 32 साल निवासी नई आबादी पोस्ट आफिस के पीछे कृषिमण्डी (अर्चना टाकिज रोड) प्रतापगढ राजस्थान के विरूद्व एफआईआर दर्ज करने हेतु प्रतिवेदन दिया था जिस पर से थाना वायडीनगर मे अप0क्रं0 8/2020 धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना मे लिया गया। उक्त प्रकरण के साथ आबकारी विभाग द्वारा निष्पादित डोडाचूरा निविदा कुल 10 पाईंट के लायसेंसियों के विरूद्व अपराध थाना वायडीनगर मे उक्त दिनांक को पंजीबद्व कराये गये है।
अप0क्रं0 8/2020 की विवेचना के दौरान भावगढ डोडाचूरा पाइंट के निविदाधारी लवकेश पिता अरविन्द कुमार राठोर उम्र 32 साल निवासी नई आबादी पोस्ट आफिस के पीछे कृषिमण्डी (अर्चना टॅाकिज रोड) प्रतापगढ राजस्थान को गिरफ्तार किया गया। आरोपी से पूछताछ करते उसके द्वारा यह बताया गया है कि मेरे पास कोई रोजगार नही था तो आबिद उर्फ नाहरखाॅं सायकल वाले निवासी प्रतापगढ मुझे काम दिलाने का बोलकर मन्दसौर लेकर आये थे ओर स्टेशन रोड पर मुझे चुन्नु उर्फ इमरान पिता डेरान खाॅंन निवासी नौगाॅंवा राजस्थान से मिलवाया था। चुन्नु उर्फ इमरान ने मुझे 8-हजार रूपये मासिक वेतन पर आफिस मे काम पर रख लिया था। मै आफिस मे साफ सफाई ओर देखरेख का काम करता था। करीब दो महिने काम के बाद आबिद उर्फ नाहरखाॅं ने मेरा आधार कार्ड ओर पेनकार्ड यह बोलकर लिया था कि तुम्हारे नाम से डोडाचूरा पाईंट के टेण्डर डालेगे अगर टेण्डर खुल गया तो तुम्हारे वेतन मे बडौतरी कर देगे। मेरे नाम से चुन्नु उर्फ इमरान ओर आबिद उर्फ नाहरखाॅं ने वर्ष 2015 मे मेरे नाम से टेण्डर डाला था तो भावगढ का टेण्डर मेरे नाम से खुला था। मैं मन्दसौर के आफिस का ही काम देखता था। चुन्नु उर्फ इमरान ने मेरी सेलेरी 12 हजार रूपये कर दी थी। ठेके का संचालन चुन्नु उर्फ इमरान ओर आबिद उर्फ नाहरखाॅं ही देखते थे। प्रकरण मे उपरोक्त दोनो को भी आरोपी बनाया गया है।
प्रकरण शासन के साथ वित्तीय धोखाधडी एवं विभागीय अनियमितता से संबंधित है। प्रकरण मे विवेचना के दौरान निविदाधारी लवकेश पिता अरविन्द कुमार राठोर उम्र 32 साल निवासी नई आबादी पोस्ट आफिस के पीछे कृषि मण्डी (अर्चना टाकिज रोड) प्रतापगढ राजस्थान के बैंक अकाउण्ट एवं आयकर विभाग से संबंधित जानकारी प्राप्त की गई जिससे यह परीलक्षित हुआ कि लवकेश पिता अरविन्द कुमार राठोर उम्र 32 साल निवासी नई आबादी पोस्ट आफिस के पीछे कृषि मण्डी (अर्चना टाकिज रोड) प्रतापगढ राजस्थान को चुन्नु उर्फ इमरान ओर आबिद, नाहरखाॅं द्वारा छद्म रूप से डोडाचूरा निविदा भावगढ पाइंट का लायसेंस दिलवाया था। प्रकरण मे कुख्यात तस्कर चुन्नु उर्फ इमरान को आरोपी बनाया गया है। इससे यह सिद्व होता है कि चुन्नु उर्फ इमरान पिता डेरान खाॅंन निवासी नौगाॅंवा राजस्थान व आबिद उर्फ नाहरखाॅं निवासी प्रतापगढ राजस्थान ने ही उक्त निविदा लवकेश राठोर के नाम से लिया था। उक्त प्रकरण से संबंधित अन्य प्रकरणो मे भी सुक्ष्मता से आर्थिक दृष्टिकोण से विवेचना की जा रही है जिससे शासन को हुई हानि के सन्दर्भ मे असली आरोपियों तक पहुंचा जा सके।

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply