दर्शन शर्मा की प्रेसवार्ता के बाद शुरू हुआ आरोप प्रत्यारोप का दौर जनहित से जुड़े मुद्दों की आड़ में सादे जा रहे निजी स्वार्थ

नीमच। हाल ही में एडवोकेट दर्शन शर्मा की प्रेसवार्ता के बाद उपजे विवाद में आरोप — प्रत्यारोप के दौर के साथ ही मामले में अब कई बद—छुपे राज बाहर निकलकर आ रहे है। एक और जहां दर्शन शर्मा ने अपने मित्र एवं युवा कारोबारी वीरू यादव के खिलाफ आरोपो का पिटारा खोलते हुए अनगिनत मामले में उन्हे आरोपित साबित करने की बेजा कोशिश की। वहीं दुसरी और वीरू यादव के खिलाफ लगे तमाम आरोपो की पड़ताल में यह साफ हो गया कि दोनो कारोबारी मित्रो के बीच जमीन विवाद के चलते इस पुरे घटनाक्रम को अंजाम दिया गया और वीरू यादव और उनके परिवार को बदनाम करने की नाकाम कोशिश की गई…!
इधर दर्शन शर्मा के तमाम आरोपो पर कड़ा रूख अपनाते हुए यादव गोल्डन ट्रांसपोर्ट संचालको ने भी पलटवार करते हुए ऐसे कई मामलो का खुलासा किया जो शहर में चर्चा का विषय बन चुके है।
दर्शन शर्मा के खिलाफ तीखा हमला बोलते हुए वीरू यादव ने खुद पर लगे आरोपों को खारिज करते हुए, कहा की उन पर लगे सभी आरोप झुठे है, वही एडवोकेट दर्शन शर्मा द्वारा जो जनहित से जुड़े मुद्दो की बात की जा रही है, उस पर भी यदि गौर किया जाए तो सारी हकीकत सामने आ सकती है…जहाँ जनहित की आड़ में कई मामलो में निजी स्वार्थ साफ तौर पर सामने आया है, जानकरी के मुताबिक शहर में इस बात की चर्चा भी जोरों पर है, की वकालत की आड़ में अपने हित के लिए दर्शन शर्मा ने पूर्व में भी केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य पर जबरन दबाव बनाते हुए, व्यायाम शाला के लिए स्कूल के खेल मैदान की जमीन पर कब्जा जमाने के लिए साजिश रची गयी थी, जिसमें अंततः वह सफल नही हो पाया…!
सूत्रों की माने तो वकालत की आड़ में कानून की धौंस देकर थानों में शिकायतें और फिर उनमें सेटलमेंट को लेकर भी कई बार दर्शन शर्मा का नाम चर्चाओं में रहा है, और ऐसे में दर्शन द्वारा दी जा रही जनहित की दुहाई किसी के गले उतर नही रही…प्रेस वार्ता के दौरान वीरू यादव के खिलाफ लगे आरोपों के बाद शहर में दर्शन शर्मा से जुड़ी हकीकत को खोलकर रख दिया है, जहाँ आरोप-प्रत्यारोप का यह विवाद का दर्शन शर्मा की प्रेस वार्ता लगाए आरोपों पर सवाल भी खड़े कर रहा है….!

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply