स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाओं के साथ मुझे यह भी बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है हम पूरी तरह स्वतंत्र नहीं हैं

हम यह भली-भांति जानते हैं की हमारे देश को आजाद हुए 75 वर्ष हो चुके है
15 अगस्त सन 1947 यह उस इतिहास की लिखी हुई तारीख है जिसे हम तो क्या हमारी आने वाली पीढ़ियां भी सदियों तक भुला नहीं पाएगी
और ना ही उन महापुरुषों को भुला पाएगी जिनको इस आजादी का श्रेय जाता है
पर देश के आज के हालातों को देखते हुए हम आजाद देश मैं स्वतंत्र होते हुए भी गुलामी सा जीवन जीना पढ़ रहा है और जिसका एकमात्र कारण है भ्रष्टाचार और पक्षपात
पहले अंगूठा छाप से लेकर पांचवी पास तक को अपनी योग्यता अनुसार सरकारी नौकरियां बड़ी आसानी से मिल जाती और आज डिग्रियां लेकर लोक चने मूंगफली बेच रहे हैं
कई परिवारों के गरीब हालात जिनके पास नौकरी पाने की पूरी काबिलियत होने के बाद भी देने के लिए रिश्वत ना होने के कारण आज भी युवा पीढ़ी दर दर भटक रही है ठोकरे खा रही है और आत्महत्या कर रही है और बेरोजगारी को हमारे देश में बड़वा मिल रहा है
और इसका कारण देश की भर्ती हुई आबादी को बताया जाता है
अगर ऐसा है तो चीन भारत से ज्यादा आबादी हे वहां यहां से ज्यादा होना चाहिए बेरोजगार होना चाहिए जनसंख्या नियंत्रण से बेरोजगारी का हल बताएं जाता है
अरे जनसंख्या नियंत्रण इसका हल हो सकता है लेकिन सबसे पहले भ्रष्टाचार नियंत्रण तो हे ही हे
दूसरी और हम भी कोविट19 से पूरी तरह स्वतंत्र नहीं हुए हैं आज भी तीसरी लहर कहीं राज्यों में दस्तक दे चुकी हे
एवं ऊपर से महंगाई की दोहरी मारने हमारी कमर तोड दी है
आज शासन हमको कोविट 19 से बचाने के लिए तो कोई ना कोई गाइडलाइन बना रही है परंतु फिर वही कुछ शासन एवं प्रशासन के भ्रष्ट सत्ताधारी पक्षपात एवं अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लालच में अपनी पद प्रतिष्ठा को दाव पर लगाने से बाज नहीं आ रहे है
शासन के नियमो का प्रशासनिक अधिकारियों से अपने कार्य के प्रति निष्ठावान रहते हुए कार्य करवाने का काम शासन के सत्ता धारियों का कर्तव्य बनता है
पर यही लोग सही काम को ना होने देने और गलत काम को बढ़ावा देने में अपनी अहम भूमिका दिखाते नजर आते हैं शायद हो सकता हैं इनको पब्लिक ने सेवक रूप में चुना हो पर ये तो लुटेरे निकल रहे है
और और जिसका नतीजा यह आम जनता को सही काम करवाने की एक कीमत चुकानी पड़ती है
इन्हीं सत्ता धारियों के पक्षपात के एक गलत काम करवाने का नतीजा हैं की आज हर शासकीय विभाग में बैठे पदाधिकारी काम ना करने की तनखा ले रहे हैं और करने की रिश्वत
हमारे प्रदेश की यह बहुत बड़ी विडंबना है
की जो कानून बनाता है
वह उसको लागू नहीं करवाता है
और जो लागू करवाता है उस पर लागू नहीं होता है
और जिस पर लागू होता है वह इसको जानता ही नहीं
और जो जानता है वह इसको मानता ही नहीं
कुछ ऐसे लोग भी सत्ता मैं सत्ताधार बने बैठे हैं जो अपने संबंधों को निभाने के लिए अपनी पद प्रतिष्ठा की गरिमा को भूलकर शासन द्वारा बनाए गए नियम और आदेशो को खूंटी पे टांग कर आम जन के साथ पक्षपात कर अपना सौतेला व्यवहार दिखा रहे हैं
इसका एक मात्र छोटा सा उधारण
यह देखने को मिला मंदसोर जिले के भावगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत जवासिया में जहां पर कोवीट 19 की गाइड लाइंस धज्जियां उड़ाते हुए एक पाटीदार समाज के व्यक्ति ने अपने पिताजी के कार्यक्रम में लगभग 2000 व्यक्तियों का मृत्यु भोज करवाया
इस बात की खबर क्षेत्र के जागरूक पत्रकार साथियों को गुप्त सूत्रों द्वारा चली तो जागरुक नागरिक होने के नाते यह बात संबंधित विभाग के समस्त पदाधिकारियों तक पहुंचाई तब पश्च्यात ज्ञात हुआ की ग्राम पंचायत जवासिया में पुलिस भी आयोजन कार्यक्रम स्थल पर पहुंच चुकी थी
लेकिन किसी प्रकार की कोई कार्यवाही ना होकर वहां से बेबस लाचार और मजबूर हो कर लौटना पढ़ा
यह बात इस और इशारा करती है
की किसी शासन के भ्रष्ट सत्ता धारी के प्रभाव होने से इस वैधानिक कार्यवाही में पक्ष पात करते हुए
रुकावट आई हैं
तो यह जनता के साथ सौतेला व्यवहार क्यों
जहा पर एक छोटी सी पंचायत में दो हजार व्यक्तियों का भोज आयोजन किया गया हो
तो जहा दो तीन लाख की पापुलेशन वाले शहर में दो पांच हजार दस हजार व्यक्तियों के बीज धर्मिक पर्व मोहर्रम एवं आनंद चौदस क्यों नही
फिर हम पर प्रतिबंध क्यों
क्यों हम स्वतंत्रता दिवस मनाने वाले स्वतंत्र नहीं और तलवे चाटने वाले स्वतंत्र क्यों इसका जवाब देना होगा
100 मैं से 80 बईमान फिर भी मेरा देश महान
थू ऐसी गंदी राजनीति पर जूना तो अपना काम इमानदारी से करते हैं और ना किसी को करने देते हैं
वह कहावत तो सुनी होगी अंधा बांटे रेवड़ी अपने-अपने को दे
चंद मुट्ठी भर गलत लोगों को खुश करने की गलती की भरपाई को आम जन को करना पढ़ती है
सिर्फ इन लोगों को सही को सही और गलत को गलत ही मानना है
इससे ज्यादा और कुछ नहीं करना

अगर यह माहोल है तो हम कहां स्वतंत्र है
जय हिंद जय भारत ई
आप सभी देश वासियों को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाई एवं अनंत अनेकानेक शुभकामनाएं
🙏

Leave a Reply