हाऊसिंग बोर्ड के अधिकारी मलाई खाने में लगे है… लोग बोर्ड की सम्पत्तियों को खा रहे है…!उज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

मंदसौर—-हाऊसिंग बोर्ड के अधिकारी मलाई खाने में लगे है… लोग बोर्ड की सम्पत्तियों को खा रहे है…!
रक्षक बने भक्षक बन जाये… तो उस विभाग को भगवान भी नही बचा सकता है… ऐसा ही एक विभाग है हाऊसिंग बोर्ड… जहाँ बैठे कारिंदे बोर्ड की सम्पत्तियों को बचाने का काम नही करते है… बल्कि सरकारी तनख्वाह ले कर बोर्ड की सम्पतियों को लूटा रहे है… लिखित शिकायतें धूल खाती रहती है… लोग बोर्ड की सम्पत्ति खाते जाते है… और बोर्ड के कारिंदे ऑफिस में बैठे हवा खाते रहते है…! रामटेकरी डुप्लेक्स में इन दिनों खूब अवैध निर्माण हो रहे है… आवासीय परिसर को व्यवसायिक बनाया जा रहा है… अवैध रूप से दुकानों का निर्माण किया जा रहा है… किसी संजय तुगनावत ने तो पूरा का पूरा भवन ही अवैध रूप से कब्जा करके बना लिया है…? इन सबकी लिखित शिकायत करने के बाद भी सहायक यंत्री पीके भट्ट और उनके सहायक सब इंजीनियर किशोर दास बैरागी को मौके पर जा कर देखने में भी जोर आ रहा है… लगता है मौके पर नही जाने का शुल्क जेब में डाल लिया है…! तभी तो बार बार कहने के बाद भी स्टाफ़ की कमी बता कर हाऊसिंग बोर्ड के कारिंदे बोर्ड की संपत्ति को नुकसान पहुचाने में लगे है… ख़ास कर सब इंजीनियर केडी बैरागी तो इन कामों में बड़े माहिर है… क्योंकि इन्हें एक ही जगह सालों हो गए है… इस चक्कर मे बोर्ड की संपत्ति लूटने वालों से इनके रिश्ते भी तगड़े हो गए है…! आज हाउसिंग बोर्ड में आप बोर्ड की संपत्ति लूटने सम्बन्धी कोई शिकायत कर दो कोई कार्यवाही नही होती है… उल्टा शिकायत करता से ये भ्रष्ट अधिकारी बहस करते है… इसी चक्कर में रामटेकरी पर ओपन स्पेस की करोड़ो की भूमि पर लोगों ने कब्जा कर लिया है… उसकी भी शिकायत करने पर कुछ नही हुआ है… श्रीकोल्ड वाले बोर्ड के काम्प्लेक्स में बने शौचालय, मूत्रालय पर भी किसी नारायण भावसार ने अवैध कब्जा कर… उसमें अपना ऑफिस बना लिया है… इसकी भी शिकायत पर पहले की भांति कुछ नही हुआ है… यानी जागरूक लोग अपनी जागरूकता का परिचय देते है… पर लाखों की तनख्वाह खाने वाले भ्रष्ट अधिकारी इसमें भी रिश्वत खा कर चुप रहते है…? और इसी चक्कर में लोग बोर्ड की संपत्ति को नुकसान पहुंचाते रहते है…! क्रांतिकारी रिपोर्टर का कहना है कि बोर्ड के बड़े अधिकारियों को इस और ध्यान देना चाहिए… शिकायतों पर कार्यवाही करवाते हुए बोर्ड की सम्पतियों को बचाना चाहिए… और लापरवाह भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्यवाही करना चाहिए..

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply